लखनऊ[जागरण संवाददाता]। इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (आइईटी) में विद्यार्थियों को अब इंडोर व आउटडोर गेम्स की बेहतरीन सुविधा मिलेगी। यहा पर 34 करोड़ रुपये की लागत से स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स व स्टेडियम बनेगा। इसमें विद्यार्थियों को स्क्वैश व बिलियर्ड जैसे गेम्स भी खेलने को मिलेंगे। वहीं, केमिकल इंजीनियरिंग व मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग की नई बिल्डिंग का निर्माण 26.50 करोड़ रुपये की लागत से बनेगी। इस तरह कुल 60.50 करोड़ रुपये की लागत से आइईटी की सूरत बदलेगी। आइईटी के मरम्मत एवं निर्माण विभाग के चेयरमैन प्रो. कैलाश नारायण ने बताया कि काम्प्लेक्स में इंडोर व आउटडोर गेम्स खेलने की पूरी सुविधा होगी। भावी टेक्नोक्रेट्स अपने मनपसंद खेल यहा पर आसानी से खेल सकेंगे। इसमें विद्यार्थियों को खेल की बेहतरीन सुविधाएं दी जाएंगी। उधर, मैकेनिकल इंजीनियरिंग व केमिकल इंजीनियरिंग विभाग को सिविल इंजीनियरिंग व कम्प्यूटर इंजीनियरिंग विभाग की बिल्डिंग में चलाया जा रहा है। अब इसके लिए नई बिल्डिंग बनाई जाएगी। इसमें कक्षाओं के साथ-साथ नई प्रयोगशालाएं भी बनाई जाएंगी। वहीं, आइईटी के बहुउद्देश्यीय हाल का भी जीर्णोद्धार कराया जाएगा। आतरिक मूल्याकन के अंक भेजने होंगे ऑनलाइन

लखनऊ विश्वविद्यालय व डिग्री कॉलेजों के सभी विभागों के अध्यक्ष सेमेस्टर परीक्षा में प्रैक्टिकल व आतरिक मूल्याकन के अंक अब केवल ऑनलाइन ही भेजेंगे। यह व्यवस्था नए शैक्षिक सत्र से लागू कर दी जाएगी। वेबपोर्टल पर इसे परीक्षा के दिन ही अपलोड करना होगा। लविवि में विभाग शिक्षकों के लिए बनाई गई लॉगिन के माध्यम से भेजेंगे। जबकि 162 डिग्री कॉलेज अपने विद्यार्थियों के प्रैक्टिकल व आतरिक मूल्याकन के अंक कॉलेज लॉगिन के माध्यम से भेजेंगे। इससे आतरिक मूल्याकन में पारदर्शिता भी आएगी। लविवि कुलपति प्रो. एसपी सिंह ने बताया कि जो कॉलेज परीक्षा के दिन अंक नहीं भेजेंगे उन पर कार्रवाई की जाएगी।

By Jagran