लखनऊ (जागरण संवाददाता)। निजी नर्सिग होम की लापरवाही की वजह से एक मरीज की जान पर बन आई। बच्चे दानी के ऑपरेशन के दौरान मरीज के पेट में लापरवाही से स्पंज छोड़ दिया गया, जिसकी वजह से मरीज की हालत गंभीर हो गई। अपनी गलती देख डॉक्टर ने मरीज को केजीएमयू रेफर कर दिया। वहीं जब दूसरे निजी हॉस्पिटल में उसका ऑपरेशन हुआ तो पेट से स्पंज निकाला गया। वहीं मरीज की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।

लगभग चार माह पहले कैंपबेल रोड निवासी 30 वर्षीय साजिदा बानो ने स्थानीय नर्सिग होम में बच्चे दानी का ऑपरेशन करवाया। ऑपरेशन के बाद भी उसकी हालत में सुधार नहीं आया। इसके बाद उसने कई बार अन्य अस्पतालों में भी इलाज करवाया, लेकिन फायदा नहीं हुआ।

साजिदा की मां जहरुननिशां ने बताया कि उसके पेट से लगातार रक्स्राव हो रहा था, साथ में मवाद भी निकल रहा था। कई बार अल्ट्रासाउंड करवाने पर भी स्थिति साफ नहीं हुई। इसके बाद फिर से जब उसी निजी नर्सिगहोम में दिखाया तो डॉक्टर ने उसे केजीएमयू या पीजीआइ ले जाने को कह दिया।

यह भी पढ़ें: अच्छी खबर: रेलवे में एक लाख पदों पर जल्द शुरू होगी भर्ती

18 जुलाई को महिला दूसरे निजी अस्पताल में गई। जहां डॉक्टर ने चार अगस्त को उसका दोबारा ऑपरेशन किया और पेट से स्पंज निकाला गया। डॉक्टरों का कहना है कि स्पंज तो निकाल दिया गया पर महिला की हालत अभी गंभीर बनी हुई है।

यह भी पढ़ें: 100 पेड़ काट दिए 5 करोड़ खर्च किए अब प्रोजेक्ट बंद

Posted By: amal chowdhury

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस