लखनऊ, जेएनएन।  रमजान मुबारक का चांद रविवार को नजर नहीं आया। देर शाम शिया-सुन्नी चांद कमेटी ने 29 का चांद न होने से मंगलवार से रमजान शुरू होने का एलान कर दिया है। हालांकि, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष व वरिष्ठ शिया धर्मगुरु मौलाना डॉ. कल्बे सादिक पहले ही सात मई से रमजान व पांच जून को ईद-उल-फित्र का त्योहार होने का एलान कर चुके हैं।

चांद के दीदार के लिए मरकजी चांद कमेटी की ओर से ऐशबाग ईदगाह में विशेष इंतजाम किए गए थे। ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली सहित कई उलमा शाम से ही हाथों में दूरबीन लिए आसमान पर टकटकी लगाए रहे। अन्य शहरों से भी चांद न दिखने की तस्दीक होने पर मौलाना खालिद रशीद ने 30 के चांद के मुताबिक मंगलवार से रमजान शुरू होने का एलान किया।

ऐशबाग की तरह कुछ ऐसा ही नजारा हुसैनाबाद के ऐतिहासिक सतखंडा इमारत की छत पर भी दिखाई दिया। यहां मरकजी शिया चांद कमेटी की अपील पर चांद देखने के लिए लोगों की भीड़ जुटी रही। यहां भी चांद नहीं दिखा तो कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास ने 29 का चांद नहीं होने का एलान किया। वहीं, काजी-ए-शहर मुफ्ती इरफान मियां फरंगी महली ने भी सोमवार को चांद रात होने के साथ मंगलवार से रमजान शुरू होने का एलान किया। 

फोन कर पूछें सवाल

रमजान के आगाज के साथ ही शिया-सुन्नी हेल्पलाइन शुरू हो जाएगी। इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया की ओर से रमजान हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया। सुन्नी समुदाय के लोग रमजान तक प्रतिदिन दोपहर दो से शाम चार बजे के बीच हेल्पलाइन नंबर-9415023970, 9335929670, 9415102947 व 7007705774 पर कॉल कर सवाल कर सकते हैं। साथ ही वेबसाइट www.farangimahal.in पर भी लॉग इन सकते हैं।

वहीं, शिया समुदाय के लोग रोजाना सुबह 10 से दोपहर 12 बजे के बीच आयतुल्ला अल उजमा सैयद सादिक हुसैनी शिराजी हेल्पलाइन नंबर 9839097407, 9415580936 व 0522-4233005 पर फोन कर सवालों के जवाब हासिल कर सकते हैं। वहीं, महिलाओं के लिए अलग हेल्पलाइन नंबर 6386897124 जारी किया गया है।

इबादत के लिए मस्जिदें हो रही गुलजार

चांद होने के साथ ही मस्जिदों में तरावीह की नमाज का सिलसिला शुरू हो जाएगा। शहर की मस्जिदों में सवा पारे से लेकर पांच पारे की तरावीह की नमाज अदा कराई जाएगी। अल्लाह की बारगाह में एक महीने तक इबादत के लिए शहर की मस्जिदें गुलजार हो रही हैं। रंगरोगन व साफ-सफाई का काम पूरा हो चुका है। वहीं, गर्मी से इबादत में कोई खलल न पड़े इसके लिए कई मस्जिदों में कूलर व एसी का इंतजाम भी किया गया है। 

कहां कितने पारे(अध्याय) 

  • मस्जिद दारुल उलूम फरंगी महल- पांच पारा
  • दरगाह शाहमीना शाह- पांच पारा
  • मस्जिद लाहौरगंज- पांच पारा
  • मस्जिद मदारा बेग- पांच पारा
  • मस्जिद अखाड़े वाली- पांच पारा
  • मस्जिद आला हजरत- पांच पारा
  • मस्जिद तकवियतुल इमान- तीन पारा
  • मस्जिद इब्राहिमी- तीन पारा
  • जामा मस्जिद डालीगंज- तीन पारा
  • मस्जिद हमजा- तीन पारा
  • मस्जिद उस्मानिया- तीन पारा
  • मस्जिद कगारवाली- तीन पारा
  • मस्जिद आएशा- तीन पारा
  • मस्जिद फातमी- तीन पारा
  • मस्जिद इस्माईली- तीन पारा
  • मस्जिद मुहम्मदी- तीन पारा
  • मस्जिद ख्वास- तीन पारा
  • मस्जिद चमन वाली- दो पारा
  • मस्जिद डालीबाग- दो पारा
  • मस्जिद मम्मी जर्राह- दो पारा
  • मस्जिद सारिया- दो पारा
  • मस्जिद तंबाकू मंडी- दो पारा
  • मस्जिद अनस- दो पारा
  • मस्जिद इब्राहिमी- दो पारा
  • मस्जिद सुब्हानिया- दो पारा
  • मस्जिद गुलाब- दो पारा
  • मस्जिद मदार बक्श- डेढ़ पारा
  • मस्जिद अबूबक्र- डेढ़ पारा
  • मस्जिद बिलाल- डेढ़ पारा
  • मस्जिद हरमैन- सवा पारा
  • मस्जिद टिकैतराय- सवा पारा
  • मस्जिद जमीअतुल कुरैश- सवा पारा
  • मस्जिद नदवा कॉलेज- सवा पारा

छाने लगी रौनक

रमजान के इस्तकबाल के लिए शहर के बाजारों में रौनक छाने लगी है। पुराने शहर के अमीनाबाद, मौलवीगंज, नजीराबाद, चौक, नक्खास व अकबरी गेट सहित अन्य बाजार गुलजार होने लगे हैं। कई जगह दुकानों पर खरीदारी का सिलसिला तेज हो गया है। रमजान को लेकर चौक व अमीनाबाद में चिकन के कुर्ता-पैजामा व टोपियों की खरीदारी भी बढ़ गई है।  

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस