लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि पंजाब और उत्तर प्रदेश के चुनाव को देखते हुए हो सकता है तीनों कृषि कानून रद कर दिए जाएं और चुनाव बाद फिर इन्हें लागू कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का 'झूठ का फूल अब लूट का फूल' बन गया है। इससे चौबीसों घंटे जनता को ठगा जा रहा है। किसान, नौजवान, गरीब, व्यापारी सभी परेशान हैं। अपराधियों को खुली छूट है और प्रशासन तंत्र कानून व्यवस्था बनाए रखने में पंगु साबित हो रहा है। महिलाओं की जिंदगी सर्वाधिक असुरक्षित है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को कहा कि आज केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकारों की प्राथमिकता गरीब तबके की जेब काटना है। खाद्य पदार्थों की कीमतें लोगों की पहुंच से बाहर हैं। रसोईं गैस महंगी है। बिजली की दरें भी बहुत ज्यादा हैं। महंगाई चरम पर है। मुख्यमंत्री अपराध नियंत्रण की बड़ी डींगे हांकते हैं परंतु हकीकत यह है कि अपराधी बेखौफ हैं। जाति-धर्म देखकर अपराधियों से भी व्यवहार किया जाता है।

सपा चीफ अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि दबंगों के आगे पुलिस असहाय दिखती है। कानून व्यवस्था में सुधार की जगह पुलिस खुद फर्जी केस बनाने, फर्जी एनकाउंटर करने में बदनाम है। बेटी सुरक्षा पर खुले आम झूठ बोलने वाले भाजपाइयों की ढोल की पोल खुल गई है। झूठे वादों और लुभावने भाषणों से अब जनता प्रभावित होने वाली नहीं है। वह सच जान गई है और यह भी उसने तय कर लिया है कि अब वह भाजपा के किसी झांसे में नहीं आएगी।

Edited By: Umesh Tiwari