लखीमपुर, संवादसूत्र। पसगवां कोतवाली क्षेत्र के गांव पनई में 13 अगस्त को अधेड़ की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी । हत्याकांड की सूचना मिलने के बाद कोतवाली निरीक्षक निर्भय कुमार सिंह ने वारदात स्थल पर पहुंच कर पड़ताल की थी ।

शुक्रवार की रात उसके ससुर स्वामी दयाल (50) पुत्र भगवानदीन घर में दरवाजे के करीब तथा अन्य सभी सदस्य अंदर सो रहे थे । घर के अंदर वादी प्रीति सहित मृतक के पुत्र अवनीश व देवा तथा पुत्री खुशबू सो रही थी । रात लगभग एक बजे फायर होने की आवाज सुनकर उन लोगों की नींद अचानक से खुल गयी । इस दौरान स्वामी दयाल खून से लथपथ अवस्था मे दर्द से तड़प रहे थे। जब यह लोग उनके पास पहुंचे तो मृतक स्वामीदयाल के गोली लगने के निशान के साथ खून बह रहा था।

मृतक के परिवारीजन व आसपास के लोगों से पुलिस ने हत्याकांड की वारदात के सम्बंध में पूछताछ की लेकिन घटना का कोई कारण पता नहीं चल सका था । पुलिस द्वारा हत्याकांड की तफ्तीश के दौरान परिवारीजन पर शक हुआ। जिस पर पुलिस मृतक के बेटे व अन्य को कोतवाली ले गए जहां पर पूछताछ शुरू कर दी।

इस दौरान मृतक स्वामीदयाल के बेटे अवनीश उर्फ ननहक्के ने जुर्म कबूल कर लिया । अवनीश ने पुलिस को बताया कि उसके पिता स्वामीदयाल शराब पीने का आदी था। नशे की लत के कारण ई रिक्शा बेच दिया तथा अन्य जो भी रुपये होते उनको नशे पर खर्च कर देते थे। आए दिन उसके साथ मारपीट व गालीगलौज किया करते थे ।

इससे तंग आकर उसने नशे की हालत में पिता की गोली मारकर हत्या कर दी तथा असलहा छुपा दिया । एसएचओ निर्भय कुमार सिंह ने बताया कि हत्याकांड के आरोपित को पनई से गिरफ्तार किया तथा उसकी निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त अवैध असलहा भी बरामद किया है ।

Edited By: Anurag Gupta