लखनऊ, जेएनएन। कोरोना के गहराते खतरे के बीच सोशल मीडिया पर डराते वीडियो भी खूब तैर रहे हैं। फलों पर थूक लगाता दुकानदार या नोटों से नाक साफ करता कोई बदमाश। कोरोना वायरस से भी तेज ये वीडियो वायरल हैं। इनके चलते लोग पौष्टिक फल, दूध और सब्जी छूने में भी डरने लगे हैं। ऐसे तनावपूर्ण माहौल में एक छींक भी आ रही है तो लोग सिहर जा रहे हैं। कोरोना संकट के बीच ऐसी ही शारीरिक-मानसिक परेशानियों में उचित परामर्श मुहैया कराने के लिए मित्र पत्र ‘दैनिक जागरण’ वाट्सएप हेल्पलाइन लेकर आया। शनिवार को दूसरे दिन इस नंबर पर सोशल मीडिया के ‘वायरल फीवर’ से जुड़े सवाल भी आए। केजीएमयू के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने गर्म पानी से फल और सब्जी को धोकर इस डर को धो डालने का सुझाव दिया। फिर हाथ को साबुन से धोकर इनका सेवन करने की राय दी। बताया, दूध का पैकेट भी साबुन से धोकर विसंक्रमित किए जा सकते हैं। उन्होंने पाठकों की स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़े सवालों का भी जवाब दिया।

सवाल- दो दिन से गला खराब है, कोई डरने की बात तो नहीं है?

सुभाष, बाराबंकी

जवाब- डरें नहीं, मौसम बदलने की वजह से गले में खराश होती है। भाप लें। नमक डालकर गुनगुने पानी से गरारा करें। ठीक हो जाएगा।

सवाल- हार्निया का ऑपरेशन होना है, पीएसी जांच हो चुकी है। अस्पताल में कब से ऑपरेशन होंगे?

कपिल देव, साउथ सिटी

जवाब- लॉकडाउन में इलेक्टिव सर्जरी बंद हैं। इमरजेंसी ओटी जारी हैं। समस्या बढ़ रही है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

सवाल- जुकाम-बलगम दवा से ठीक हो जाता है, बाद में समस्या फिर उभर आती है। कहीं यह कोरोना तो नहीं है?

बीएन वैश्य, निशातगंज

जवाब- यह एलर्जी की समस्या लग रही है। कोरोना नहीं है। एक बार चेस्ट के डॉक्टर को दिखा लें। इलाज कराएं।

सवाल- गले में चार दिन से खराश बनी हुई है। क्या करना चाहिए?

बबिता सिंह, लखनऊ

जवाब- मौसम बदल रहा है। एलर्जी हो गई है। गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारा करें। भाप लें। ठीक हो जाएगा।

सवाल- क्या कुत्ताें और पक्षिओं से भी कोरोना फैलता है?

मुकेश मिश्र, कल्याणपुर

जवाब- यह संक्रमित व्यक्ति व वस्तु से फैलता है। कुत्ताें व पक्षियों से नहीं फैलता है।

सवाल- लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी क्या बार-बार हाथ धोना पड़ेगा?

शुभ यादव, बाराबंकी

जवाब- उत्तम स्वास्थ्य में हाथ की सफाई का बहुत योगदान है। इससे आप कई बीमारियों से बचेंगे। यह अच्छी आदत है, इसे हमेशा बनाएं रखें।

सवाल- मुङो अस्थमा है। दवा लेने के बाद कमजोरी लगती है। उल्टी महसूस होती है, मगर होती नहीं है। क्या करूं?

ऋचा, जानकीपुरम

जवाब- परेशान न हों। एक बार डॉक्टर से मिल लें। आपकी दवा में बदलाव किया जा सकता है।

लखनऊ, जेएनएन। कोरोना के गहराते खतरे के बीच सोशल मीडिया पर डराते वीडियो भी खूब तैर रहे हैं। फलों पर थूक लगाता दुकानदार या नोटों से नाक साफ करता कोई बदमाश। कोरोना वायरस से भी तेज ये वीडियो वायरल हैं। इनके चलते लोग पौष्टिक फल, दूध और सब्जी छूने में भी डरने लगे हैं। ऐसे तनावपूर्ण माहौल में एक छींक भी आ रही है तो लोग सिहर जा रहे हैं। कोरोना संकट के बीच ऐसी ही शारीरिक-मानसिक परेशानियों में उचित परामर्श मुहैया कराने के लिए मित्र पत्र ‘दैनिक जागरण’ वाट्सएप हेल्पलाइन लेकर आया। शनिवार को दूसरे दिन इस नंबर पर सोशल मीडिया के ‘वायरल फीवर’ से जुड़े सवाल भी आए। केजीएमयू के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकांत ने गर्म पानी से फल और सब्जी को धोकर इस डर को धो डालने का सुझाव दिया। फिर हाथ को साबुन से धोकर इनका सेवन करने की राय दी। बताया, दूध का पैकेट भी साबुन से धोकर विसंक्रमित किए जा सकते हैं। उन्होंने पाठकों की स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़े सवालों का भी जवाब दिया।

सवाल- दो दिन से गला खराब है, कोई डरने की बात तो नहीं है?

सुभाष, बाराबंकी

जवाब- डरें नहीं, मौसम बदलने की वजह से गले में खराश होती है। भाप लें। नमक डालकर गुनगुने पानी से गरारा करें। ठीक हो जाएगा।

सवाल- हार्निया का ऑपरेशन होना है, पीएसी जांच हो चुकी है। अस्पताल में कब से ऑपरेशन होंगे?

कपिल देव, साउथ सिटी

जवाब- लॉकडाउन में इलेक्टिव सर्जरी बंद हैं। इमरजेंसी ओटी जारी हैं। समस्या बढ़ रही है तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

सवाल- जुकाम-बलगम दवा से ठीक हो जाता है, बाद में समस्या फिर उभर आती है। कहीं यह कोरोना तो नहीं है?

बीएन वैश्य, निशातगंज

जवाब- यह एलर्जी की समस्या लग रही है। कोरोना नहीं है। एक बार चेस्ट के डॉक्टर को दिखा लें। इलाज कराएं।

सवाल- गले में चार दिन से खराश बनी हुई है। क्या करना चाहिए?

बबिता सिंह, लखनऊ

जवाब- मौसम बदल रहा है। एलर्जी हो गई है। गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारा करें। भाप लें। ठीक हो जाएगा।

सवाल- क्या कुत्ताें और पक्षिओं से भी कोरोना फैलता है?

मुकेश मिश्र, कल्याणपुर

जवाब- यह संक्रमित व्यक्ति व वस्तु से फैलता है। कुत्ताें व पक्षियों से नहीं फैलता है।

सवाल- लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी क्या बार-बार हाथ धोना पड़ेगा?

शुभ यादव, बाराबंकी

जवाब- उत्तम स्वास्थ्य में हाथ की सफाई का बहुत योगदान है। इससे आप कई बीमारियों से बचेंगे। यह अच्छी आदत है, इसे हमेशा बनाएं रखें।

सवाल- मुङो अस्थमा है। दवा लेने के बाद कमजोरी लगती है। उल्टी महसूस होती है, मगर होती नहीं है। क्या करूं?

ऋचा, जानकीपुरम

जवाब- परेशान न हों। एक बार डॉक्टर से मिल लें। आपकी दवा में बदलाव किया जा सकता है।

सवाल- 20 दिन से खांसी-बलगम की समस्या है। सीरप लेने से ठीक नहीं हो रहा है, क्या करूं?

गोकरन, सुलतानपुर

जवाब- पानी उबालकर भाप लें। चेस्ट के डॉक्टर को दिखा लें। एंटीबायोटिक का कोर्स चलेगा।

सवाल- तीन वर्ष की बेटी है। इम्युनिटी बढ़ाने और उसे कोरोना से बचाने के लिए क्या करें?

प्रमोद, बलरामपुर

जवाब- बच्चे को घर में रखें। उसकी स्वच्छता का ध्यान रखें। हरी सब्जी-मौसमी फल खिलाएं। योग व प्राणायाम करें।

सवाल- कोरोना का समय चल रहा है। कैसा भोजन करना उचित रहेगा?

हसन कलम, कैसरगंज

जवाब- शाकाहारी भोजन करें। हरी सब्जी व मौसमी फल खाएं। भोजन में पोषक तत्व वाले आहार शामिल करें।

सवाल- ठेले वाले से सब्जी-फल लेते हैं। इससे क्या कोरोना हो सकता है? कई तरह के वीडियो वायरल हो रहे हैं, क्या करूं?

अंजली, अलीगंज

जवाब- घर में पानी गर्म कर लें। फल-सब्जी एक से दो मिनट उसमें डालकर निकाल लें। इससे फल और सब्जी विसंक्रमित हो जाएगी। इसके बाद अपने हाथों को साबुन से जरूर धुलें।

सवाल- उत्तरखंड की यात्र से लौटा हूं। खांसी और गले में खराश की समस्या हो गई है। कोई चिंता की बात तो नहीं है?

शरद, जानकीपुरम

जवाब - साधारण फ्लू का असर है, कोरोना नहीं है। भाप लें और गरारा करें।

अपनी समस्या हमें बताइए

हम आपको समाधान देंगे

वायरल हो रहे फल और सब्जियों को संक्रमित करने वाले वीडियो इन्हें खाना न छोड़ें बल्कि विसंक्रमित करके इस्तेमाल करें

कोरोना संक्रमण के खतरे ने सबके लिए कठिनाई पैदा कर दी है। एक तरफ संक्रमण का वास्तविक खतरा है, जिससे बचने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन समेत तमाम एहतियात बरते जा रहे हैं। इससे हटकर तरह-तरह की अफवाहों और आशंकाओं ने भी लोगों की मानसिक परेशानी बढ़ा दी है। यदि आप भी ऐसी किसी आशंका, चिंता या भय से ग्रस्त हैं तो आप अपनी बात जागरण के साथ शेयर करिए। हमारी टीम संबंधित विशेषज्ञ से आपकी समस्या का समाधान करवाएगी। विशेषज्ञ का जवाब जागरण के अगले अंक में प्रकाशित किया जाएगा। विशेषज्ञ के परामर्श के लिए आप अपनी परेशानी वाट्सएप नंबर 9838423163 पर मैसेज कर दीजिए। मैसेज में अपना नाम और पता अवश्य लिखें। अपना संदेश आप हमें 12 बजे तक भेज सकते हैं। आपके सवाल का जवाब सोमवार के अंक में प्रकाशित किया जाएगा। कृपया मैसेज भेजें, कॉल न करें।

रखें ध्यान

  • लाकडाउन का पालन करें
  • हाथ की सफाई रखें
  • रचनात्मक कार्यों में मन लगाएं
  • व्यायाम-योग अवश्य करें

पौष्टिक आहार का सेवन करें 20 दिन से खांसी-बलगम की समस्या है। सीरप लेने से ठीक नहीं हो रहा है, क्या करूं?

गोकरन, सुलतानपुर

जवाब- पानी उबालकर भाप लें। चेस्ट के डॉक्टर को दिखा लें। एंटीबायोटिक का कोर्स चलेगा।

सवाल- तीन वर्ष की बेटी है। इम्युनिटी बढ़ाने और उसे कोरोना से बचाने के लिए क्या करें?

प्रमोद, बलरामपुर

जवाब- बच्चे को घर में रखें। उसकी स्वच्छता का ध्यान रखें। हरी सब्जी-मौसमी फल खिलाएं। योग व प्राणायाम करें।

सवाल- कोरोना का समय चल रहा है। कैसा भोजन करना उचित रहेगा?

हसन कलम, कैसरगंज

जवाब- शाकाहारी भोजन करें। हरी सब्जी व मौसमी फल खाएं। भोजन में पोषक तत्व वाले आहार शामिल करें।

सवाल- ठेले वाले से सब्जी-फल लेते हैं। इससे क्या कोरोना हो सकता है? कई तरह के वीडियो वायरल हो रहे हैं, क्या करूं?

अंजली, अलीगंज

जवाब- घर में पानी गर्म कर लें। फल-सब्जी एक से दो मिनट उसमें डालकर निकाल लें। इससे फल और सब्जी विसंक्रमित हो जाएगी। इसके बाद अपने हाथों को साबुन से जरूर धुलें।

सवाल- उत्तरखंड की यात्र से लौटा हूं। खांसी और गले में खराश की समस्या हो गई है। कोई चिंता की बात तो नहीं है?

शरद, जानकीपुरम

जवाब - साधारण फ्लू का असर है, कोरोना नहीं है। भाप लें और गरारा करें।

वायरल हो रहे फल और सब्जियों को संक्रमित करने वाले वीडियो इन्हें खाना न छोड़ें बल्कि विसंक्रमित करके इस्तेमाल करें

कोरोना संक्रमण के खतरे ने सबके लिए कठिनाई पैदा कर दी है। एक तरफ संक्रमण का वास्तविक खतरा है, जिससे बचने के लिए 21 दिन के लॉकडाउन समेत तमाम एहतियात बरते जा रहे हैं। इससे हटकर तरह-तरह की अफवाहों और आशंकाओं ने भी लोगों की मानसिक परेशानी बढ़ा दी है। यदि आप भी ऐसी किसी आशंका, चिंता या भय से ग्रस्त हैं तो आप अपनी बात जागरण के साथ शेयर करिए। हमारी टीम संबंधित विशेषज्ञ से आपकी समस्या का समाधान करवाएगी। विशेषज्ञ का जवाब जागरण के अगले अंक में प्रकाशित किया जाएगा। विशेषज्ञ के परामर्श के लिए आप अपनी परेशानी वाट्सएप नंबर 9838423163 पर मैसेज कर दीजिए। मैसेज में अपना नाम और पता अवश्य लिखें। अपना संदेश आप हमें 12 बजे तक भेज सकते हैं। आपके सवाल का जवाब सोमवार के अंक में प्रकाशित किया जाएगा। कृपया मैसेज भेजें, कॉल न करें।

रखें ध्यान

  • लाकडाउन का पालन करें
  • हाथ की सफाई रखें
  • रचनात्मक कार्यों में मन लगाएं
  • व्यायाम-योग अवश्य करें
  • पौष्टिक आहार का सेवन करें

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस