लखनऊ, जागरण संवाददाता। वन विभाग और ठाकुरगंज पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा बुधवार देर रात सर्प तस्कर गिरोह के गिरफ्तार सरगना खेलावन को पुलिस ने जेल भेज दिया। खेलावन मूल रूप से कानपुर देहात के अकबरपुर का रहने वाला है। उसके पास से बरामद तीन सांपों को वन विभाग की टीम ने जंगल में छोड़ दिया।एडीसीपी पश्चिम राजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि खेलावन यहां काकोरी क्षेत्र में मोहान रोड स्थित घुरघुरी तालाब के पास रह रहा था। उसे वहीं से पकड़ा गया था।

ध्यान रहे, मंगलवार रात ठाकुरगंज पुलिस और वन विभाग की टीम ने क्षेत्र से एक किशोर को सांप तस्करी के मामले में पकड़ा था। उसके पास से घोड़ा पछाड़ समेत आठ प्रतिबंधित सांप बरामद किए गए थे। वह इंस्टाग्राम पर सांप की फोटो डालकर बिक्री करता था। बरामद सांपों की कीमत करीब ढ़ाई करोड़ रुपये बताई जा रही है। सरगना को जेल भेजने के बाद अब गिरोह के अन्य लोगों की तलाश की जा रही है। एडीसीपी ने बताया कि मंगलवार को ठाकुरगंज इलाके से पकड़े गए किशोर तस्कर का इंटरनेट मीडिया अकाउंट बन्द करा दिया गया है। जिसके माध्यम से वह प्रतिबंधित सांपों की फोटो डालकर उनकी बिक्री करता था। 

दवा बनाने में प्रयोग करते हैं सांपः सरगना से पूछताछ में पता चला कि गिरोह के लोग सांप पकड़कर उसकी बिक्री करते हैं। इन सापों से दवाई बनाई जाती है। कई प्रकार की दवाओं में इनकी बिक्री होती है। वहीं सावन का महीना चल रहा है कुछ लोग पूजा के लिए भी सांप खरीदकर रखते थे। सरगना और किशोर दोनों के मोबाइल जबतबकर लिए गए हैं। उनकी काल डिटेल्स खंगाली जा रही है। इसके अलावा साइबर सेल की मदद से इंस्टाग्राम अकाउंट से जुड़े खरीदारों और गिरोह के अन्य लोगोंबक ब्यौरा जुटाया जा रहा हा।

Edited By: Vikas Mishra