लखनऊ। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद डा. पीएल पुनिया उत्तर प्रदेश में स्मृति ईरानी की डगर बेहद मुश्किल मान रहे हैं। उनकी राय में कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी को पार्टी में लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चहेती होने के कारण बर्दाश्त कर रहे हैं।

गोरखपुर में पुनिया ने कहा कि अगर स्मृति ईरानी को उत्तर प्रदेश में आगे किया गया तो उनका हाल दिल्ली की किरण बेदी से भी बुरा होगा। स्मृति ईरानी बाहरी हैं, उत्तर प्रदेश से उनका कोई लेना-देना नहीं है। वह मोदी की चहेती हैं, इसलिए पार्टी के लोग भी उन्हें बर्दाश्त कर रहे हैं। यही हाल रहा तो भाजपा प्रदेश में साफ हो जाएगी।

पुनिया में अयोध्या में बजरंग दल के ट्रेनिंग कैंप को भाजपा व सपा का खेल बताया। गोरखपुर में डा. पुनिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार दलित विरोधी है। प्रदेश सरकार दलितों का घोर उत्पीडऩ कर रही है। अधिकारी उत्पीडऩ की घटनाओं पर चुप्पी साधे हुए हैं। ऐसे लापरवाह अधिकारियों पर आयोग सख्त कार्यवाही करेगा।

अयोध्या में रामवृक्ष भारती के परिवारीजन की पिटाई और सिंघोरवा में दलित की हत्या के बाद उल्टे पीडि़त परिवारीजन पर मुकदमा प्रकरण पर एसएसपी से जबाब तलब किया और कहा कि वह न्याय करने का काम करें, अन्यथा आयोग कार्यवाही को बाध्य होगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा 2017 के चुनाव में आप सभी से आशा और उम्मीदें हैं कि आप सक्रिय भूमिका निभाएंगे। पूर्वांचल में कांग्रेस के लोग अपना महत्वपूर्ण योगदान करें, जिससे पार्टी सरकार बनाने में सफल हो।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप