लखनऊ। यूपी सरकार और इलाहाबाद हाई कोर्ट की पाबंदी के बावजूद विश्व हिंदू परिषद के आज 84 कोसी परिक्रमा शुरु करने के ऐलान को लेकर सूबे में माहौल गर्म है। उत्तर प्रदेश एक ओर जहां इस यात्रा को विफल बनाने में जुटी है वहीं विहिप का कहना है कि यात्रा हर हाल में होकर रहेगी।

अयोध्या में आज विहिप नेता तथा पूर्व सांसद रामविलास वेदाती के साथ राम जन्म भूमि न्यास परिषद के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास को सुबह ही गिरफ्तार किया गया। इसके साथ ही विहिप के कई नेता नजरबंद किए गए हैं।

प्रदेश सरकार ने अयोध्या जाने के लिए नई दिल्ली से लखनऊ आ विहिप नेता अशोक सिंहल से अनुरोध किया है कि वो लखनऊ एयरपोर्ट से ही लौट जाएं। प्रमुख सचिव गृह आरएम श्रीवास्तव ने कहा कि अगर सिंहल अयोध्या जाने पर जोर देंगे तो उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

-----

अयोध्या छावनी में तब्दील

84 कोसी कोसी परिक्रमा से पहले अयोध्या को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त हैं। राम की नगरी को प्रदेश के साथ केंद्रीय पुलिस बल के हवाले किया गया है। सरयू घाट और पास के इलाकों में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों के जवान तैनात हैं। फैजाबाद और अयोध्या समेत गोंडा, अंबेडकरनगर, बाराबंकी, बहराइच, बस्ती जिलों में धारा 144 लागू है। बाराबंकी से फैजाबाद के सभी रास्तों पर पुलिस की कड़ी सुरक्षा है और सभी वाहनों की गहन पड़ताल की जा रही है। बस्ती से फैजाबाद की ओर किसी भी प्रकार के वाहन के आने पर रोक लगी है। बस्ती के मखौडा मंदिर के आस-पास कड़ी सुरक्षा है। बहराइच में भी रैपिड एक्शन फोर्स के जवान तैनात हैं। फैजाबाद में गिरफ्तार लोगों को रखने के लिए शहर में अलग-अलग जगहों पर दस अस्थाई जेल बनाए गए हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस