लखनऊ, जेएनएन। धनतेरस में खरीदारी करना शुभ माना जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि अगर आप राशि के अनुसार खरीदारी करेंगे तो समृद्धि मिलेगी। आचार्य एसएस नागपाल बता रहे हैं आपको कि मुहुर्त में राशि के अनुसार खरीदारी। 

राशि के अनुसार ये सामान खरीदें:-

  • मेष-चांदी के बर्तन और इलेक्ट्रानिक्स सामान। 
  • वृष-चमकीले वस्त्र चांदी या फिर तांबे के बर्तन। 
  • मिथुन-सोने के आभूषण, कांसे के बर्तन और केसर और वाहन।
  • कर्क-चांदी के आभूषण,सिक्के व घरेलू इलेक्ट्रिक सामान।
  • सिंह-तांबे व कांसे के बर्तन, कपड़े और सोने का कोई सामान।
  • कन्या-चांदी का सामान व कांसे के बर्तन।
  • तुला-सौंदर्य का सामान, चांदी या सोने का सामान या सजावटी सामान।
  • वृश्चिक-इलेक्ट्रानिक सामान व सोने के आभूषण।
  • धनु-सुगंधित सामान, सोने के सिक्के और आभूषण।
  • मकर-वाहन, कपड़े चांदी के बर्तन व आभूषण।
  • कुंभ-चांदी के सामान, वाहन व सौंदर्य प्रसाधन।
  • मीन-सोने व चांदी के बर्तन या इलेक्ट्रानिक्स सामान।

जैसा मुहूर्त, वैसी खरीदारी 

  • शाम 6:35 से रात्रि 8:35 बजे तक प्रापर्टी, जमीन, जायदाद, मकान, दुकान, आभूषण, सोना, चांदी एवं अन्य कीमती धातु की खरीदारी की जा सकता है।
  • रात्रि 8:30 से 10:44 बजे तक दोपहिया-चार पहिया वाहन, टीवी, फ्रिज, एसी, कंप्यूटर, लैपटाप, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रानिक्स सामान खरीदा जा सकता है।
  • शाम 4:55 से 7:35 बजे तक बर्तन-बहुमूल्य धातुओं के पात्र, पर्दे, चादर, सौंदर्य का सामान, कपड़े व घर के सजावटी सामान खरीदे जा सकते हैं।

आंगन में दक्षिण दिशा की ओर जलाएं दीपक 

धनतेरस के दिन दक्षिण दिशा में दीपक जलाया जाता है। आचार्य शक्तिधर त्रिपाठी ने बताया कि मान्यता है कि एक दिन दूत ने बातों ही बातों में यमराज से प्रश्न किया कि अकाल मृत्यु से बचने का कोई उपाय है? इस प्रश्न का उत्तर देते हुए यमदेव ने कहा कि जो प्राणि धनतेरस की शाम यम के नाम पर दक्षिण दिशा में दीपक जलाकर रखता है उसकी अकाल मृत्यु नहीं होती। इस मान्यता के अनुसार धनतेरस की शाम आंगन में यम देवता के नाम पर दक्षिण दिशा की ओर दीप जलाकर रखते हैं। घर की मुख्य महिला यह काम करे तो उत्तम होता है। 

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप