लखनऊ [हरिशंकर मिश्र]। समाजवादी पार्टी के प्रमुख महासचिव प्रो. राम गोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव के संसदीय क्षेत्र में रोड शो कर अपनी ताकत का अहसास कराने वाले शिवपाल सिंह यादव आने वाले चुनाव में सपा के लिए बड़ी समस्या बन सकते हैं। जिन क्षेत्रों में सपा का प्रभाव है, उनमें शिवपाल की भी गहरी पकड़ है और लोगों ने उनके साथ खुलकर आना भी शुरू कर दिया है। रोड शो में सिरसागंज के विधायक हरिओम यादव का पहुंचना इस बात का संकेत है कि चुनाव से पहले चाचा शिवपाल भतीजे अखिलेश यादव की पार्टी में गहरी सेंध लगा सकते हैं, जिसका सहज फायदा भाजपा को मिलना तय है।

लगातार पांच बार के विधायक शिवपाल कुनबे की पारिवारिक कलह से पहले तक सपा के प्रभाव वाले क्षेत्रों के राजनीतिक समीकरण अपने ढंग से तय करते रहे हैं। इसीलिए समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने के बाद उन्हें इन क्षेत्रों में ही अपनी पार्टी को अधिक मजबूती मिलने की उम्मीद भी है। इटावा, फीरोजाबाद आदि से उनके पक्ष में उत्साह भरी प्रतिक्रिया भी सामने आई है।

जहां इटावा के पूर्व विधायक रघुराज सिंह शाक्य शुरू से ही उनके साथ खड़े नजर आए, वहीं सिरसागंज के विधायक और उनके बेटे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष विजय प्रताप उर्फ छोटू यादव व मीना राजपूत समेत कई लोगों ने रविवार को रोड शो के रूप में हुए उनके शक्ति प्रदर्शन में खुलकर उनका साथ दिया। चुनाव से पहले यह संख्या और बढ़ेगी। मैनपुरी को छोड़ दिया जाए, जहां से शिवपाल मुलायम सिंह यादव को लड़ाने की घोषणा पहले ही कर चुके हैैं, तो इटावा, कन्नौज, फीरोजाबाद आदि में मोर्चा का प्रभाव देखने को मिल सकता है।

मोर्चा के मुख्य प्रवक्ता सीपी राय के अनुसार संगठन की मजबूती के लिए सिलसिलेवार कार्यक्रम तय किये गए हैैं। पूर्वांचल और पश्चिम के कई जिलों में शिवपाल सिंह यादव जा चुके हैं और सभी क्षेत्रों में वह जाएंगे। सपा का नाम लिए बिना वह इशारा करते हैं कि जिन पार्टियों को नौजवानों-किसानों की समस्याओं के लिए सत्ता से लडऩा चाहिए था, वह दूसरे प्रदेशों में जाकर भाजपा की मदद कर रही हैं। ऐसे में मोर्चा को लोगों का सहज समर्थन मिल रहा है।

किस्मत से जरा कह दो, अभी तन्हा नहीं हूं मैं

सपा के वरिष्ठ नेता प्रो. राम गोपाल यादव से शिवपाल के रिश्तों की तल्खी किसी से छिपी नहीं है। इसलिए जब उनके बेटे अक्षय यादव के संसदीय क्षेत्र में शिवपाल को लोगों का भरपूर समर्थन मिला तो वह अपनी भावनाएं रोक न सके।

उन्होंने ट्वीट किया-

साथ चलता है, 'दुआओं का काफिला मेरे।

किस्मत से जरा कह दो, अभी तन्हा नहीं हूं मैं।

 

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप