लखनऊ (जेएनएन)। पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवंटित सरकारी आवास को खाली कराने के लिए मचे घमासान के बीच पूर्व मंत्री शिवपाल यादव ने अपने बड़े भाई व समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह को अपने साथ रहने का आमंत्रण दिया है। मुलायम सिंह से मिलने गए शिवपाल ने कहा कि पहले भी हम सब साथ रहते थे। जब तक आपके आवास की समस्या का समाधान नहीं होता, तब तक आप मेरे आवास पर रहें। शिवपाल ने अखिलेश को भी अपने साथ रहने की बात कही है। मुलायम सिंह और शिवपाल के बीच की वार्ता का जिक्र वरिष्ठ सपा नेता सीपी राय ने अपनी फेसबुक वॉल पर किया है।

'बंगले न खाली करने को मुलायम व अखिलेश बना रहे बहाना

भाजपा प्रदेश कार्य समिति के पूर्व सदस्य अमित पुरी ने सरकारी आवास मामले में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव व बसपा सुप्रीमो मायावती पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि तीनों ही पूर्व मुख्यमंत्री तरह-तरह के बहाने बनाकर खुद को आवंटित सरकारी आवासों को खाली न करने की राजनीतिक तिकड़मबाजी कर रहे हैं। जबकि, तीनों के ही पास लखनऊ में अपने निजी आवास व भूखंड हैं।

अमित पुरी ने कहा कि तीनों ही पूर्व मुख्यमंत्रियों ने भारत निर्वाचन आयोग के समक्ष दाखिल अपने अपने शपथ पत्रों में इन संपत्तियों की घोषणा की है। मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में विश्वासखंड, गोमती नगर के 1/103 में 3230 वर्गफीट का एक आवासीय भवन दर्शाया है। मायावती ने नई दिल्ली के साथ ही लखनऊ में नौ माल एवेन्यू का आवास दर्शाया है।

अखिलेश यादव ने पत्नी डिंपल यादव के साथ लखनऊ में 1 ए विक्रमादित्य मार्ग पर आवासीय संपत्ति में आधे भाग की हिस्सेदारी बताई है। साथ ही दिलकुशा एमजी रोड पर भवन संख्या 31/93 में भी आधे भाग की हिस्सेदारी दर्शायी है। इसके बावजूद तीनों पूर्व मुख्यमंत्री सरकारी आवास खाली करने में तरह-तरह की बहानेबाजी कर रहे हैं।  

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप