लखनऊ, राज्‍य ब्‍यूरो। राजभवन में भगवान शिव की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। इसके लिए बुधवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने भूमिपूजन और शिलान्यास किया। यह प्रतिमा ग्रेनाइट के 10 फुट लंबे और सात फुट चौड़े चबूतरे पर लगाई जाएगी, जो कि चबूतरे के ऊपर चार फुट ऊंची होगी। प्रतिमा के पीछे सात फुट ऊंचा पहाड़ और अन्य मनोरम निर्माण किए जाएंगे। इसके अलावा राज्यपाल ने राजभवन की कार्य व्यवस्थाओं को डिजिटल करने के लिए आठ साफ्टवेयर प्रणालियों का लोकार्पण किया।

इनमें कार्मिक प्रबंधन प्रणाली, राजभवन सचिवालय के चतुर्थ श्रेणी के कर्मिकों के लिए जीपीएफ प्रबंधन प्रणाली, राजभवन गेट पास और परिचय-पत्र प्रबंधन प्रणाली, आनलाइन राजभवन लाइब्रेरी पोर्टल, राजभवन कर्मिकों के लिए बायोमीट्रिक उपस्थिति प्रणाली, राज्य सरकार के जनशिकायत निवारण पोर्टल पर राजभवन में प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की व्यवस्था और राजभवन में आने वाले उपहारों का डिजिटलाइजेशन शामिल है। लोकार्पण के दौरान आनंदीबेन ने इन साफ्टवेयर के संचालन को भी देखा।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि साफ्टवेयर प्रणाली के माध्यम से अब राजभवन के काम में पारदर्शिता आएगी। सभी काम समयबद्धता के साथ पूरे होंगे। उन्होंने पुस्तकालय के पोर्टल को डा. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय और लखनऊ विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी से जोडऩे के निर्देश दिए। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव राज्यपाल महेश कुमार गुप्ता, विशेष सचिव बद्री नाथ सि‍ंह, विशेष कार्याधिकारी (आइटी) सुदीप बनर्जी भी उपस्थित रहे।

Edited By: Anurag Gupta