लखनऊ, जेएनएन। होली के साथ शिया समुदाय ने भी गुरुवार को रंग खेल नौरोज का त्योहार का जश्न मनाया। पुराने शहर के कई इलाकों में अबीर-गुलाल की महक छा गई। बड़े हो या बच्चे। हर कोई सुबह से ही दोस्तों संग टोली बनाकर घर-घर रंग खेलने निकल पड़ा। लोगों ने गले मिलकर एक दूसरे का मुबारकबाद दी। पुराने शहर खासकर शिया बाहुल्य इलाकों में देर रात तक मेहमान नवाजी का सिलसिला जारी रहा। 

पहले इमाम हजरत अली अलेहिस्सलाम की विलायत के जश्न में डूबे समुदाय के घरों में सुबह से ही जश्न का माहौल छाया रहा। हर किसी पर त्योहार की खुमारी छाई रही। पुराने शहर के बाजाजा, कश्मीरी मुहल्ला में सुबह के साथ ही रंग खेलने का सिलसिला शुरू हो गया। युवाओं की टोलियों ने गलियों में धूमकर एक दूसरे पर खूब रंग डाला। इसी तरह नूरबाड़ी, हसनपुरिया, बुनियादबाग व रुस्तम नगर सहित आसपास के इलाकों में भी जगह-जगह अबीर-गुलाल उड़ा। 

लोगों ने एक-दूसरे के घर जाकर गले मिले। कुछ यहीं माहौल शाहगंज, मुफ्तीगंज, अली कालोनी व सरफराजगंज सहित अन्य इलाकों में भी दिखाई दिया। इन इलाकों में दिनभर त्योहार की धूम रही। इसके बाद शाम को लोगों ने नए कपड़े पहने और रिश्तेदारों व दोस्तों के घर जाकर नज्र चखी। घरों में नज्र चखने का यह सिलसिला देर रात तक जारी रहा। मेहमान नवाजी में कोई कसर न रह जाए। इसके लिए महिलाओं ने तरह-तरह के स्वादिष्ट पकवान बनाएं। 

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस