लखनऊ, जेएनएन। कैंट विधानसभा के उपचुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी ने भी तैयारियां शुरू कर दी है। पार्टी से चुनाव लडऩे के लिए अब तक सात लोगों ने अपनी दावेदारी पेश की है। वहीं पार्टी की जिला इकाई भी नगर के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर उपचुनाव लड़ाएगी। जिला कार्यालय पर तैयारियों को लेकर सोमवार को बैठक भी हुई। 

कैंट विधानसभा सीट डॉ. रीता बहुगुणा जोशी के प्रयागराज का सांसद बनने के बाद खाली हुई है। इस सीट पर डॉ. रीता बहुगुणा जोशी पहले कांग्रेस फिर भाजपा के टिकट पर विजयी हुई थी। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में कैंट विधानसभा सीट से पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव को सपा ने अपना उम्मीदवार बनाया था। हालांकि वह चुनाव हार गई थी। इस बार उपचुनाव के लिए अब तक पूर्व पार्षद सुरेश चौहान, व्यापारी नेता पवन मनोचा, सभासद राजू गांधी, सुशील दीक्षित सहित सात लोगों ने चुनाव लडऩे की दावेदारी की है।

वहीं सोमवार को जिला मुख्यालय पर आयोजित बैठक में जिलाध्यक्ष अशोक यादव ने कहा कि उपचुनाव को देखते हुए संगठन को मजबूत करने के साथ विस्तार देने की जरूरत है। निष्क्रिय बूथ कमेटियों की समीक्षा कर उनको पुनर्गठित किया जाएगा। जिला व नगर की कमेटियां बेहतर तालमेल के साथ कैंट विधानसभा का उपचुनाव लड़ाएंगी। कार्यकर्ता सीधे मतदाताओं से संवाद करके उनको पिछली सपा सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे। बैठक में जिला महासचिव राशिद अली, पूर्व विधायक इरशाद खान, शिव शंकर सिंह शंकरी, जिला उपाध्यक्ष महताब सिंह यादव और मीडिया प्रभारी रमेश सिंह रवि सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस