अयोध्या, (रमाशरण अवस्थी)। भारतीय स्टेट बैंक अयोध्या शाखा में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का खाता खुलने के बाद पहली बार रामलला के दानपात्र में बीते 15 दिनों में चढ़ावे के रूप में आई धनराशि की गिनती हुई। पहले नोट गिने गए, बाद में सिक्कों की गिनती शुरू हुई, जो देर शाम तक चलती रही। हालांकि सिक्कों की गिनती पूरी नहीं हो सकी। गुरुवार को छह लाख 34 हजार रुपये गिने जा सके। यह धनराशि शुक्रवार को खाते में जमा की जाएगी। 

इस गिनती के लिए भारतीय स्टेट बैंक के तीन, राजस्व विभाग के दस व कोषागार के एक कर्मी को लगाया गया था। इसके लिए ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्र, कमिश्नर एमपी अग्रवाल व सीडीओ प्रथमेश कुमार रामजन्मभूमि परिसर पहुंचे। इन्हीं अधिकारियों की मौजूदगी में दानपत्र से राशि निकाल कर गणना शुरू की गई। सिक्कों की अधिकता की वजह से ये देश शाम तक चलती रही।

सूत्रों के अनुसार यह राशि तकरीबन सात लाख है, जो अब ट्रस्ट के खाते में जमा होनी है। एसबीआइ की अयोध्या ब्रांच में यह चालू खाता बुधवार को खुल गया था। बैंक सूत्रों के मुताबिक भविष्य में सिक्के गिनने के लिए मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। आज गिनती पूरी न हो पाने की वजह मशीन की अनुपलब्धता को माना जा रहा है। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस