लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। कोरोना की संभावित तीसरी लहर के बीच उत्तर प्रदेश में राहत देने वाली खबर सामने आई है। सीरो सर्वे में करीब 71 प्रतिशत लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबाडी पाई गई है। वैक्सीन की एक भी डोज न लेने वाले कम लोगों में एंटीबाडी मिली है। जिन्होंने टीके की दोनों डोज ली है, ऐसे ज्यादातर लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबाडी मिली है। प्रदेश में बीती 14 जून से लेकर 16 जुलाई तक यह सीरो सर्वे कराया गया। सीरो सर्वे के तहत करीब 70 हजार लोगों में एंटीबाडी की जांच की गई।

यूपी में बीते अप्रैल व मई महीने में बड़ी संख्या में लोग कोरोना से संक्रमित हुए थे। मजबूत इम्युनिटी के दम पर बड़ी संख्या में लोगों ने न सिर्फ कोरोना से जंग जीती, बल्कि उनमें अभी भी कोरोना से लडऩे के लिए पर्याप्त मात्रा में एंटीबाडी मौजूद है। यही नहीं देश में सबसे ज्यादा 4.75 करोड़ टीके यूपी में लगाए गए हैं। कोरोना के टीके की दूसरी डोज एक तरह से बूस्टर डोज का काम करती है और शरीर में पर्याप्त मात्रा में एंटीबाडी का निर्माण करती है।

सीरो सर्वे में लोगों के खून के सीरम की जांच की जाती है। इससे यह पता चलता है कि किस क्षेत्र में कितने लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं व कितने लोगों में कोरोना के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता बन चुकी है। बता दें कि इससे पहले बीती चार जून तक लगभग 62 हजार लोगों की जांच की गई थी और लोगों में हाई लेवल एंटीबाडी मिली थी।

Edited By: Umesh Tiwari