लखनऊ, जेएनएन। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के तेज प्रसार के साथ ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी शैक्षणिक संस्थानों को 30 जनवरी तक बंद रखने का फैसला किया है।

उत्तर प्रदेश के सभी शैक्षणिक (प्राइमरी से लेकर यूनिवर्सिटी) संस्थान अब 30 जनवरी तक बंद रहेंगे। सरकार ने पहले 14 जनवरी तक प्राइमरी, बेसिक व माध्यमिक स्कूलों को बंद रखा था। इसके बाद 22 जनवरी तक डिग्री कालेज तथा यूनिवर्सिटी को बंद किया गया। अब इसको बढ़ाकर 30 जनवरी तक कर दिया गया है। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसका आदेश जारी कर दिया है। 30 जनवरी तक स्‍कूलों में बंदी को शासन की ओर से शनिवार को एक आदेश जारी कर बढ़ा दिया गया है। पूर्व से चल रही आनलाइन कक्षाओं का संचालन इससे प्रभावित नहीं होगा। शासन की ओर से अपर मुख्‍य सचिव अवनीश कुमार अवस्‍थी की ओर से जारी पत्र में 23 जनवरी तक का पूर्व में जारी अवकाश को आगामी एक सप्‍ताह के लिए और बढ़ा कर 30 जनवरी कर देने की जानकारी साझा की गई है। पत्र के अनुसार मंडलायुक्‍त, पुलिस आयुक्‍त, चिकित्‍साधिकारी और जिलाधिकारी सहित तमाम अधिकारियों को सूचना देकर इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने की अपील की गई है।

आनलाइन चलेंगी कक्षाएं : कोरोना संक्रमण काल में आनलाइन कक्षाएं जारी रखने की जानकारी पत्र में दी गई है। बताया गया है कि इस बाबत सम्‍यक विचारोपरांत यह तय किया गया है कि तीस जनवरी तक तो स्‍कूल बंद रहेंगे मगर आनलाइन संचालित हो रही कक्षाओं को देखते हुए उनको इस आदेश से अलग रखा गया है। इस लिहाज से आनलाइन कक्षाएं पूर्व की भांति संचालित होती रहेंगी।

Edited By: Dharmendra Pandey