लखनऊ, जुनैद अहमद। गोमतीनगर स्थित रिवर फ्रंट पर अब कलाकारों को खुले मंच पर अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिलेगा। साथ ही सैलानी लखनऊ की संस्कृति से रूबरू हो सकेंगे। दरअसल, संगीत नाटक अकादमी अब हर महीने शाम-ए-अवध सांस्कृतिक शाम का आयोजन रिवर फ्रंट पर करेगी। इसमें प्रदेश की विलुप्त होती लोक कलाओं की प्रस्तुति के जरिए उन्हें बढ़ावा दिया जाएगा। पिछले दिनों हुई अकादमी की कार्यकारिणी की बैठक में यह फैसला लिया गया।

एसएनए की नवगठित कार्यकारिणी की बैठक में गोमती नगर के रिवर फ्रंट पर एलडीए व सिंचाई विभाग समेत अन्य विभागों के सहयोग से हर महीने शाम-ए-अवध कार्यक्रम किए जाने पर फैसला हुआ। इसमें प्रदेश के गायन, नृत्य और वादन से जुड़े लोक कलाकार प्रस्तुतियां देंगे। इस पहल के तहत ब्रज, बुंदेलखंड, भोजपुर और अवध की लोक कलाओं को प्रोत्साहित किया जाएगा।

कल्चरल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत प्रवासी भारतीय कलाकारों को आमंत्रित किया जाएगा। प्रदेश के कलाकारों को एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत विदेशों में भेजे जाने पर विचार किया गया। अकादमी की सचिव रूबीना बेग ने बताया कि कार्यक्रम व कलाकारों के चयन के बारे में विचार-विमर्श किया जा रहा है। बहुत जल्द हम रिवर फ्रंट पर कार्यक्रम शुरू कराएंगे।

रिवर फ्रंट में सैलानियों को तोहफा
संगीत नाटक अकादमी की इस पहल से रिवर फ्रंट पर आने वाले सैलानी सुखद अनुभूति कर सकेंगे। लोक संस्कृति की प्रस्तुति से रिवर फ्रंट की खूबसूरती दोगुना होगी। साथ ही कलाकारों को भी मंच के साथ आर्थिक रूप से समृद्ध होने का मौका मिलेगा।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस