लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन तथा महागठबंधन की चर्चा पर आज पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने विराम लगा दिया है। समाजवादी पार्टी के कार्यालय में मुलायम सिंह ने मीडिया से साफ कह दिया कि हम किसी के साथ भी गठबंधन नहीं करेंगे। अगर किसी को समाजवादी पार्टी के साथ आना है तो वह अपनी पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय कर दे। समाजवादी पार्टी तो अकेले ही चुनाव मैदान में उतरेगी। मुलायम के साथ प्रेस कांफ्रेंस में शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद थे।

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अब समाजवादी कोई गठबंधन नहीं करेगी। हम न तो लालू प्रसाद यादव के राष्ट्रीय जनता दल के साथ ही और न ही नीतीश कुमार के जनता दल यूनाईटेड किसी से गठबंधन नहीं करेंगे। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी।उन्होंने कहा कि साथ आना है तो अपनी पार्टियों का समाजवादी पार्टी में विलय करना पड़ेगा।

पढ़ें- मोदी ने देश में लगा दी अघोषित आर्थिक इमरजेंसी : मायावती

समाजवादी कोई गठबंधन नही करेगी। आज दिन में महागठबंधन को लेकर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने बड़ी घोषणा कर दी। माना जा रहा है कि इस घोषणा के साथ ही मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को भी झटका दिया है। अखिलेश यादव ने कल ही कहा था कि अगर उत्तर प्रदेश में गठबंधन होता है तो हमको तीन सौ सीट लेने से कोई भी नहीं रोक सकेगा।

नोट बंद होने से देश में गंभीर समस्या उत्पन्न

समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने 500 तथा एक हजार के नोट को मोदी सरकार के फैसले को ठीक नहीं बताया है। लखनऊ में आज दिन में उन्होंने समाजवादी पार्टी के कार्यालय में मीडिया को संबोधित किया। प्रेस कांफ्रेंस में उनके साथ समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव भी थे। उन्होंने कहा कि हम संसद में नोट बंद होने का विरोध करेंगे।

पढ़ें- 500 व एक हजार के नोट को लेकर धैर्य रखें, 'धन' जाएगा नहीं

मुलायम सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 तथा एक हजार के नोट को बंद करने का निर्णय ठीक नहीं है। इन दोनों नोट के बंद होने से देश में गंभीर समस्या उत्पन्न हो रही है। सरकार को नोट बंद होने का फैसला कुछ दिनों के लिए वापस ले लेना चाहिए। मुलायम ने कहा कि पीएम मोदी को यह फैसला लागू करने से पहले जनता को कम से कम एक हफ्ते का समय देना चाहिए। उन्होंने कहा कि शायद पीएम को यह पता नहीं है कि नोट बंद होने से देश में गंभीर समस्या उत्पन्न हो गई है।

मुलायम सिंह यादव ने भाजपा की सरकार कर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि लोगों को छोटी-छोटी चीजें नहीं मिल रही है। बीमार लोगों को दवा नहीं मिल रही है। भारतीय जनता पार्टी को तो बस उत्तर प्रदेश का चुनाव दिख रहा है। मुलायम ने कहा कि भाजपा को जनता की कोई परवाह नहीं है। यह लोग किसी भी कीमत पर उत्तर प्रदेश के चुनाव में जीत चाहते हैं।

मुलायम ने कहा कि नोट बंद होने से कल एक महिला की सदमे में मौत हो गई। आम जनता को जरुरत का सामान नहीं मिल रहा। देश की पूरी जनता इस समय बेहद परेशान है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने कालाधन वापस लाने का वादा पूरा नहीं किया तो भारत में ही नोट बंद करा दिया। कालाधन को लेकर भाजपा ने झूठ बोला था। इन लोगों ने कालाधन देश में वापस लाने का वादा किया था।

मुलायम सिंह ने कहा कि हम भी चाहते हैं कि चुनाव में कालाधन न लगे। कालाधन की लड़ाई सपा ने लड़ी। कालाधन के खिलाफ हम भी हैं। एकाएक मोदी ने नोट बंद किए, यह ठीक नहीं है। नोट बंद होने से सोने के दाम बहुत बढ़े। कल तक सोना का दाम 30 से 45 हजार रुपए तोला हो गया।

पढ़ें- नोट बैन का असर, बरेली में जलते मिले 500 और 1000 के नोट

पढ़ें- बरेली में कालेधन का बड़ा खुलासा

पढ़ें- कानपुर में विशेष ड्यूटी से लौट रहे बैंक प्रबंधक समेत आठ की दुर्घटना में मौत

पढ़ें- बैंकों ने की तैयारी, आज विशेष काउंटर खोलकर बदले जा रहे नोटः मुख्य सचि

पढ़ें- खुल गये बैंक, नोट बदलने और जमा करने को लगीं लाइनें

पढ़ें- तकरार, झड़प और हंगामा कराती रही 1000-500 के नोटों पर पाबंदी

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप