लखनऊ (जेएनएन)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश नीति पूरी तरह विफल है। उन्होंने कहा कि अमेरिका भारत को अपनी विदेश नीति के तहत झुका रहा है, लेकिन भारत की विदेश नीति के आगे झुकने को तैयार नहीं है। भूटान, श्रीलंका, म्यांमार, अफगानिस्तान व यूरोपीय देशों से हमारे रिश्ते पहले जैसे नहीं रहे।

फर्रुखाबाद के बढ़पुर स्थित एक गेस्टहाउस में पत्रकारों से बातचीत में पूर्व विदेश मंत्री ने कहा कि विदेश नीति प्रधानमंत्री कार्यालय से संचालित हो रही है। विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों से राय तक नहीं ली जाती है। विदेश मंत्रालय को अनदेखा किया जाना उचित नहीं है। प्रधानमंत्री तीन बार अमेरिका यात्रा पर जा चुके हैं, लेकिन अमेरिका ने सीनेट में भारत को स्थान देने से मना कर दिया। प्रधानमंत्री मोदी के संबंध पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से अच्छे हैं। इसके बावजूद सीमा पर हमले नहीं रुक रहे। देश के सैनिक शहीद हो रहे।

उन्होंने कहा कि विदेश नीति की विफलता के चलते ही देश दो वर्ष पीछे चला गया। प्रधानमंत्री मोदी विदेश में रह रहे भारतीयों को वहां एकत्र कर वाहवाही लूटते हैं। जबकि, उन्हें वहां स्थानीय राष्ट्राध्यक्षों के साथ अधिक समय बिताना चाहिए। कहा कि कांग्रेस का मुकाबला भाजपा से है। सपा व बसपा मुकाबले में नहीं हैं। प्रधानमंत्री की चीन यात्रा पर सलमान ने कहा कि जब वह विदेश मंत्री थे तो चीन के प्रधानमंत्री से पूछा था कि सीमा पर हरकत क्यों होती है, लेकिन किसी चीनी को झूला नहीं झुलाया। वहीं प्रधानमंत्री एनएसजी में शामिल होने के लिए चीन के समक्ष नतमस्तक तक हो चुके हैं। सलमान खुर्शीद ने राहुल गांधी का नाम लिए बगैर कहा कि इन दिनों कुछ लोग उनकी पार्टी के युवा नेता को गलत आरोप लगाकर दबाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व शीघ्र ही बड़ी घोषणाएं करेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर इशारा करते हुए शेर पढ़ी कि 'तू इधर-उधर की न बात कर, यह बता कि काफिले क्यूं लुटे।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस