लखनऊ (जेएनएन)। राज्यपाल राम नाईक की ओर से आज राजभवन में रोजा इफ्तार और रात्रिभोज का आयोजन किया गया। इस मौके पर राज्यपाल ने ईद की अग्रिम बधाई देते हुए कहा कि रमजान का पाक महीना हमें प्रेम व सद्भाव की शिक्षा देता है। हमारे देश में सभी संप्रदाय के लोग आपस में मिलजुलकर रहते हैं, यही हमारी संस्कृति है।

रोजा इफ्तार में उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, पूर्व राज्यपाल माता प्रसाद, मंत्री सूर्य प्रताप शाही, सुरेश खन्ना, रीता बहुगुणा जोशी, आशुतोष टंडन, राज्यमंत्री स्वाती सिंह, मन्नू कोरी, सांसद जगदंबिका पाल, प्रमोद तिवारी, पूर्व सांसद लालजी टंडन, पूर्व मंत्री अहमद हसन, पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह, मौलाना कल्बे जवाद, मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली, टीले वाली मस्जिद के इमाम मौलाना फजले मन्नान, मौलाना यासूब अब्बास, मौलाना आगा रूही, महंत देव्यागिरी, राजा महमूदाबाद मोहम्मद अमीर मोहम्मद खां, नवाब मीरअब्दुल्ला जाफर, अन्य समुदायों के धर्मगुरु, सूचना आयुक्त, विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति, वरिष्ठ प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी, पत्रकारों सहित अनेक गणमान्य नागरिकों ने हिस्सा लिया।

दिल्ली में होने के कारण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सांसद मुलायम सिंह यादव और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव रोजा इफ्तार में शिरकत नहीं कर सके। मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने सुन्नी और मौलाना कल्बे जवाद ने शिया मुसलमानों को नमाज-ए-जमात पढ़ाई।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस