लखनऊ, जेएनएन। विधान परिषद की 11 सीटों की मतगणना विशेष सुरक्षा व्‍यवस्‍था के साथ गुरुवार को सुबह शुरू हो गई है। विधान परिषद में लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ व इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक के अलावा लखनऊ, वाराणसी, आगरा, मेरठ, बरेली-मुरादाबाद व गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक सीट के लिए मतदान एक दिसंबर को हुआ था। लखनऊ, आगरा, वाराणसी व मेरठ में शिक्षक व स्नातक कोटे की दो-दो सीटों की मतगणना होगी। मतगणना सात स्थानों पर एक साथ हो रही है। लखनऊ में भाजपा के उमेश द्विवेदी चुनाव जीत गए हैं। हालांकि अभी औपचारिक घोषणा बाकी है। उमेश द्विवेदी निर्दलीय उम्मीदवार महेंद्र नाथ राय से 3200 वोटों से आगे हैं।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतगणना स्थल पर विशेष सतर्कता बरतने व कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं, इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक सीट की मतगणना झांसी, बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक सीट की मतगणना बरेली में व गाेरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक सीट की मतगणना गोरखपुर में होगी। लखनऊ में सत्ताधारी दल पर मनमाने एजेंट बनवाने और पेटी सील करने में धांधली का आरोप लगाकर प्रत्याशियों ने हंगामा किया। मंडलायुक्त रंजन कुमार और डीएम अभिषेक प्रकाश ने मामले का शांत कराया और मतगणना स्थल से अनाधिकृत लोगों को बाहर किया।

इसके बाद देर शाम को फिर कांति सिंह समेत कई प्रत्याशी धरने पर बैठ गए। उनका आरोप है कि सत्ताधारी दल के दबाव में चुनाव जीतने की रणनीति बनी है। इनका आरोप है कि 24 प्रत्याशियों में 23 को हराने के षड़यंत्र चल रहा है। अधिकारी सुन नहीं रहे है। सत्ताधारी दल के दबाव में काम हो रहा है।लोकतंत्र की हत्या हो रही है। 

10 राउंड पूरे 31 राउंड तक बनेगी गड्डी, फिर होगी मतगणना

रमाबाई रैली स्थल पर चल रही विधानपरिषद चुनाव मतगणना में अभी गड्डी ही बन रही थी कि हंगामा शुरू हो गया। समाजवादी पार्टी के स्नातक एमएलसी प्रत्याशी राम सिंह राणा सहित कई प्रत्याशियो ने मतपेटियों में गड़बड़ी का आरोप लगाकर हंगामा किया। पहले टेबल संख्या 8 से 14 में पेटियों में गड़बड़ी की बात सामने आई है। फिर एक से लेकर सात नंबर टेबल पर हंगामा हुआ। मंडलायुक्त रंजन कुमार के निर्देश के बाद सुरक्षा बढ़ाई गई। लंच के बाद एक बार फिर गड्डी बनाने का कार्य शुरू हुआ। अभी 10 राउंड हुए है। 31 राउंड तक गड्डी बनेगी इसके बाद काउंटिंग शुरू होगी। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि शिक्षक एमएलसी की मतगणना देर रात तक समाप्त होगी, जबकि स्नातक की कल सुबह तक चलेगी। गड़बड़ी के आरोप निराधार है। वीडियो ग्राफी के बीच मतगणना हो रही है। निर्दल प्रत्याशी कान्ती सिंह ने गड़बड़ी की जांच कराने की मांग की।

प्रत्‍याशी राम सिंह राणा का आरोप, बक्‍सा सील करने में की गई गड़बड़ी

रमाबाई रैली स्थल पर चल रही विधानपरिषद चुनाव मतगणना में अभी गड्डी ही बन रही थी कि हंगामा शुरू हो गया। समाजवादी पार्टी के स्नातक एमएलसी प्रत्याशी राम सिंह राणा सहित कई प्रत्याशियोंं ने मतपेटियों में गड़बड़ी का आरोप लगाकर हंगामा किया। टेबल संख्या 8 से 14 में पेटियों में गड़बड़ी की बात सामने आई है। हंगामा देख मंडलायुक्त रंजन कुमार के पास गई निर्दलीय प्रत्याशी कान्ती सिंह ने गड़बड़ी की जांच कराने की मांग की। पुलिस के साथ मतगणना स्थल पर आए मंडलायुक्त ने समझा कर सभी को शान्त कराया।

मंडलायुक्त ने कहा कि सील में कोई गड़बड़ी नही है। तार से सील है लेकिन अधिकारियों के साइन के साथ पर्ची चिपकी है। यदि कोई गड़बड़ी है तो लिखित शिकायत करने का अधिकार है। अभी केवल गड्डी बन रही है, ऐसे में हंगामा ठीक नहीँ है। गिनती होने दीजिये देखा जाएगा। आप।सभी को आश्वासन देना चाहता हूं कि किसी तरह की गड़बड़ी नही होगी, गड़बड़ी करके नौकरी थोड़ी कोई फंसाएगा। फिलहाल भारी सुरकच्छ के साथ मतगणना शुरू हो गई गई है। गड्डी बनाने के बाद वरीयता के क्रम में गिनती शुरू होगी जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि श‍िक्षक विधान परिषद का परिणाम देर रात आ सकता है, लेकिन स्नातक परिणाम सुबह तक आने की संभावना है। मतगणना चलती रहेगी। सत्ताधारी दल और विरोधी दल के प्रतायशियों दोनों के चेहरे पर चिंता की लकीरें नज़र आ रही है। सभी की निगाहें मतगणना पर टिकी हुई हैं।

मतगणना स्‍थल के मीडिया सेंटर में बैठी एमएलसी प्रत्याशी कांत‍ि स‍िंंह ने कहा कि मुझे इस समय कुछ नहीं कहना है। वोटिंग के दौरान कार्यकर्ताओं को रोका गया था, जिसकी शिकायत निर्वाचन अधिकारियों से की गई थी। वहीं पूर्व एमएलसी एसपी सिंह ने प्रशासन पर ग्रामीण इलाकों में फर्जी वोटिंग का आरोप लगाया है। उन्‍होंने कहा, राजधानी में करीब 40 हजार वोट कटवा दिए गए। फिर भी कांति सिंह जीतेंगी, भले जीत का मार्जिन कम हो। 

लखनऊ के रमाबाई स्थल पर मतगणना से पहले स्क्रूटनी का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। मतगणना के मद्देनजर स्थल की सुरक्षा का ज़िम्मा BSF को दिया गया है। परिसर की निगरानी के लिए CCTV कैमरों की व्यवस्था की गई है। सभी राजनैतिक दल और प्रत्यशिगण भी स्ट्रांग रूम और परिसर पर निगरानी कर सकते है। ज़िला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक मतगणना के लिए स्तानक निर्वाचन के लिए 14 टेबल व शिक्षक निर्वाचन के लिए 14 टेबल की व्यवस्था की गई है।

स्नातक व शिक्षक निर्वाचन की मतगणना क्रमशः कक्ष संंख्या चार व तीन में की जा रही है। ज़िला निर्वाचन अधिकारियो  द्वारा सभी व्यवस्थाओं का सघन निरीक्षण किया जा रहा। अधिकारियों का कहना है करीब साढे तीन लाख से अधिक मतों की गिनती का काम किया जाएगा उम्मीद की जा रही है कि शाम 3:00 से 4:00 बजे तक परिणाम आ जाएगा स्नातक सीट के लिए जहां दो दर्जन के करीब उम्मीदवार मैदान में हैं वहीं शिक्षक सीट पर 11 प्रत्याशी जीत के दावे कर रहे हैं।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतगणना स्थल पर सुरक्षा के लिए थर्मल स्कैनर, हैंड सैनिटाइजर, ग्लव्ज, फेस मास्क, फेस शील्ड, साबुन, पानी आदि की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि दोपहर तक रूझान आने की संभावना है। देर शाम तक नतीजे आने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि सभी स्थानों पर कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

कहां कितने पड़े वोट

  • सीट का नाम                          : मतदान प्रतिशत
  • आगरा खंड स्नातक                    : 41.56
  • इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक      : 41.10
  • लखनऊ खंड स्नातक                 : 36.74
  • मेरठ खंड स्नातक                      : 42.86
  • वाराणसी खंड स्नातक                 : 39.33
  • आगरा खंड शिक्षक                    : 70.78
  • बरेली-मुरादाबाद खंड शिक्षक       : 73.48
  • गोरखपुर-फैजाबाद खंड शिक्षक    : 73.94
  • लखनऊ खंड शिक्षक                  : 58.99
  • मेरठ खंड शिक्षक                       : 62.60
  • वाराणसी खंड शिक्षक                  : 68.83

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021