अयोध्या, [रविप्रकाश श्रीवास्तव]। Bhavy Ayodhya Township: राममंदिर पर फैसला आने के बाद अयोध्या को ग्लोबल टूरिज्म हब के रूप में विकसित करने में जुटी योगी सरकार के प्रयासों से पूरा विश्व रामनगरी की ओर आकर्षित है। इसीलिए दुनिया की नामी संस्थाएं, उद्यमी व विशिष्टजन रामनगरी में स्थान पाने को उत्सुक नजर आ रहे हैं। सनातन धर्मशाला, पांच सितारा होटल तो कोई यहां मल्टी स्पेशियलिटी हास्पिटल और गोल्फ कोर्स बनाना चाहता है। भव्य अयोध्या टाउनशिप में अपना स्थान सुनिश्चित कराने के लिए देश-विदेश की 34 नामी संस्थाएं सामने आ चुकी हैं। विकास प्राधिकरण सरकार की मंशा को फलीभूत करने में लगा है। आवास विकास परिषद से जुड़े एक उच्चाधिकारी की मानें तो अभी तक 200 एकड़ का प्रस्ताव मिल चुका है।

सि‍ंगापुर की सिम सिटी स्पेशलिटी प्राइवेट लिमिटेड भी कतार में हैं, जो यहां उच्च श्रेणी का रिसार्ट बनाना चाहती है। इंडियन गोल्फ यूनियन के सदस्य ने गोल्फ कोर्स बनाने के लिए भूमि मांगी है। देश के जाने माने उद्यमी राकेश लाधानी ने आध्यात्मिक सह कल्याण केंद्र के लिए भूमि मांगी है। इसी क्रम में स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में सुप्रसिद्ध कई संस्थाएं यहां उच्चकोटि की सुविधा वाले हास्पिटल बनाने की इच्छा लेकर भव्य अयोध्या में भूमि प्राप्त करने के लिए आगे आई हैं। विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सि‍ंह का कहना है कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप विकास कार्यों को गति प्रदान की जा रही है। भव्य अयोध्या में स्थान पाने के लिए इच्छुक संस्थाएं संपर्क कर रही हैं।

खरीदी जा चुकी है 350 एकड़ भूमि

भव्य अयोध्या टाउनशिप 1192 एकड़ में बसेगी। इसके लिए 350 एकड़ भूमि अभी तक खरीदी जा चुकी है। रामनगरी से सटे शहनवाजपुर, माझा बरहटा और तिहुरा में योजना का विस्तार होगा। भूमि खरीद प्रक्रिया को निर्बाध बनाने के लिए अपर आवास आयुक्त डा. नीरज शुक्ला हर हफ्ते यहां समीक्षा के लिए आ रहे हैं। भव्य अयोध्या के निकट ही पर्यटन विभाग की ओर से श्रीराम की भव्य प्रतिमा भी लगाई जाएगी। इसके लिए भूमि अभी तक पर्यटन विभाग को खरीदनी थी, लेकिन योजना बनाई जा रही है कि आवास विकास परिषद भूमि की खरीद करे। अभी भव्य अयोध्या में भूमि का मूल्य निर्धारित नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि इसमें भी आवास विकास परिषद अपने सहयोगी विकास प्राधिकरण और ग्लोबल कंसल्टेंट ली एसोसिएट््स की मदद ले सकता है। 

Edited By: Anurag Gupta