लखनऊ, जागरण संवाददाता। आम लोगों को बड़ी राहत देने वाली खबर आ रही है। लंबे समय बाद सरसों के तेल रिफाइंड आयल के दाम में कमी आई है। खाद्य तेलों के निरंतर घटने के पीछे वजह कारोबारी आयात शुल्क में कटौती को मान रहे हैं। जहां अब तक 190 रुपये का भाव पार कर चुका सरसों का तेल 180 रुपये लीटर से नीचे आ गया है वहीं 155 रुपये में बिक रहा रिफाइंड आयल 150 रुपये लीटर तक आ गया है। हालांकि त्योहारी सीजन में यह कीमतें रसोई चला रहीं महिलाओं को बड़ी राहत देने वाली हैं। सरसों के तेल में दस रुपये लीटर तो रिफाइंड में पांच रुपये लीटर से अधिक की कमी आई है। इसके अलावा अरहर समेत विभिन्न तरह की दालें, टमाटर और प्याज की कीमतें भी कम हुई हैं।

तेल के दाम, फुटकर मंडी का हाल

खाद्य तेल-कीमत रुपये प्रति लीटर

पहले- अब

  • बैल कोल्हू- 190 -175 से 180
  • रिफाइंड ऑयल फॉरच्यून-155 -145 से 150

दालें हुईं ढीली

दाल- कीमत रुपये प्रति किलो- एक माह पहले -अब

  • अरहर दाल पुखराज-100 - 95
  • चने की दाल -75 -72
  • मूंग दाल धुली -97 -95
  • छोला अव्वल -106 -105
  • उड़द की दाल काली-115 -110
  • उड़द की दाल हरी -160 -140 से 160
  • टमाटर -80 -60
  • प्याज -60 -45 से 50

बोले कारोबारी: फतेहगंज मंडी के तेल कारोबारी विपुल अग्रवाल ने बताया कि लंबे समय बाद सरसों के तेल में कमी आई है। रिफाइंड ऑयल की कीमतें भी घट रहीं हैं। अब सरसों का तेल 175 से 180 रुपये लीटर आ गया है। वहीं अब रिफाइंड डेढ़ सौ रुपये लीटर के अंदर आ गया है।

वहीं फुटकर कारोबारी संजय सिंघल ने बताया कि अरहर समेत सभी दालों के दाम में कमी आई है। सबसे बड़ी बात सरसों के तेल और रिफाइंड में कमी का है। त्योहार के मौके पर यह बड़ी राहत है। आने वाले दिनों में आयात कम होने से भाव और घटेंगे।

Edited By: Rafiya Naz