लखनऊ, [ज्ञान बिहारी मिश्र]। लुभावने स्कीम दिखाकर हजारों लोगों के 60 हजार करोड़ रुपये हड़पने के आरोपित शाइन सिटी कंपनी के सीएमडी राशिद नसीम को भारत लाया जाएगा। आर्थिक अपराध शाखा (इओडब्ल्यू) ने आरोपित को दुबई से प्रत्यर्पण कराकर यहां लाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर गृह मंत्रालय को भेज दिया है। गृह मंत्रालय अब राशिद को भारत लाने की तैयारी कर रही है। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही राशिद को लखनऊ लाया जाएगा। शाइन सिटी कंपनी पर देशभर में करीब पांच हजार से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। खास बात ये है कि अभी भी लखनऊ, प्रयागराज और वाराणसी समेत अन्य जिलों में मुकदमे दर्ज हो रहे हैं।

सिर्फ राजधानी में तीन हजार मुकदमें दर्ज किए जा चुके हैं। इनमें इओडब्ल्यू 284 मुकदमों की विवेचना कर रही है, जो करोड़ों की ठगी के हैं। कंपनी में एमडी राशिद के भाई आसिफ नसीम को पुलिस अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। आसिफ पर भी हजारों मुकदमे दर्ज हैं। सूत्रों का कहना है कि आसिफ भारत में ही छिपा है। अभी तक उसके दुबई में छिपे होने की पुष्टि नहीं हो सकी है। बताया जा रहा है कि आसिफ अलग अलग ठिकाने बदलकर रह रहा है। राशिद की पत्नी शगुफ्ता के गिरफ्तार किए जाने के बाद मुकदमों में फरार चल रहे आरोपित सतर्क हो गए हैं। इओडब्ल्यू की टीम कुछ संभावित स्थानों पर आसिफ व अन्य की तलाश कर रही है। 

जारी है मुकदमों का सिलसिलाः शाइन सिटी कंपनी के खिलाफ मुकदमों की फेहरिस्त लगातार बढ़ती जा रही है। तकरीबन हर तीन दिन पर निवेशक एफआइआर दर्ज करा रहे हैं। गोमतीनगर थाने में आवासीय योजना के नाम पर 11 लोगों से 20 लाख की ठगी के चार और मुकदमे दर्ज किए गए हैं। रजनी खंड दो निवासी मनोरमा सिंह और उनकी परिचित ललिता से ठगों ने 12 लाख रुपये हड़प लिए। पीड़ितों ने राशिद नसीम, आसिफ नसीम, आकिब नसीम, शगुफ्ता खान, सबा खान, सोनल सिंह, व संदीप समेत 10 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। इनके अलावा आरोपितों ने तेलीबाग निवासी सरताज सिंह भदौरिया, उनके दोस्त ले. कर्नल एसपी साहू की पत्नी रेणुका, बबिता सिंह, रामकिशन सिंह, प्रवीण कुमार, अशोक सिंह तथा आलमबाग निवासी डीपी सिंह और निलमथा निवासी अरविंद कुमार मिश्रा से लाखों रुपये हड़पे हैं।

Edited By: Vikas Mishra