लखनऊ (जेएनएन)। प्रदेश सरकार भले ही महिला तथा लड़कियों के प्रति अपराध कम करने को लेकर बेहद संजीदा है, लेकिन लखनऊ में तो पुलिस बूथ में ही मानसिक विक्षिप्त महिला से दुष्कर्म हो रहा है। प्रदेश की राजधानी में कल दुष्कर्मी को पुलिस के तमाम कैमरे भी नहीं पकड़ सके। एक महिला ने जब महिला की चीख सुनी तो आसपास के लोगों की मदद से दुष्कर्मी को पकड़ा। महिला बिहार की रहने वाली है।

प्रदेश के सभी नगरों में पुलिस के बूथ पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा है कि आप कैमरे की नजर में हैं। यह सब महज धोखा है, कही कोई कैमरा नहीं लगा है। पुलिस बूथ के सामने चार पहिया वाहनों की बीच सड़क पर पार्किंग से दिन भर जाम से लोग जूझते हैं। बूथ में कोई पुलिसकर्मी नहीं रहता जबकि पुलिस बूथ केवल शो पीस बनकर खड़ा है। दोपहर के वक्त और शाम होते ही कुछ वर्दीधारी वसूली करते जरूर दिख जायेंगे। 

लखनऊ में हसनगंज थाना क्षेत्र के डालीगंज रेलवे क्रासिंग के पास  फ्लाईओवर (ओवर ब्रिज) के नीचे सीतापुर रोड पर पुलिस बूथ है। इसी पुलिस बूथ के भीतर कल रात में एक मानसिक विक्षिप्त महिला के साथ दुष्कर्म किया गया। महिला के चीखने की आवाज सुनकर पास में ही अपने बच्चों के साथ आइसक्रीम खा रही महिला ने पुलिस बूथ के पास जाकर देखा तो वह सन्न रह गई। महिला ने राहगीरों को बुलाया तो आरोपी भागने लगा। भागते वक्त आरोपी को लोगों ने दौड़ाकर पकड़ लिया और वहां उसकी जमकर धुनाई करने के बाद पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की। आरोपी की पहचान निरालानगर इलाके के लाल कॉलोनी निवासी राहुल चौधरी के रूप में हुई है। लखनऊ में देर रात हुई इस वारदात ने पुलिस की सुरक्षा और कार्यप्रणाली पर कई सवाल खड़े किए हैं।

पुलिस ने विक्षिप्त महिला को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजकर आगे की कार्रवाई की। पुलिस बूथ में हुई इस रेप की घटना से जहां हाईटेक पुलिस की पोल खुल गई है वहीं दूसरी तरफ इस घटना से पुलिस महकमे में भी खलबली मची है। 

हुस्नआरा (समाजसेविका) बच्चों के साथ हसनगंज के डालीगंज क्रासिंग पर बने फ्लाईओवर के नीचे आइसक्रीम खा रहीं थीं। तभी एक महिला के चीखने की आवाज पुलिस बूथ के भीतर से आ रही थी। महिला ने जब पास जाकर देखा तो बूथ के अंदर एक युवक बुजुर्ग मानसिक विक्षिप्त महिला के साथ दुष्कर्म कर रहा था। आरोपी युवक उस विक्षिप्त महिला का मुंह दबाने का प्रयास कर रहा था। इसको देखने के बाद समाजसेविका ने शोर मचाया तो आरोपी युवक उस पीडि़त महिला को पीछे ढकेलते हुए भागने लगा। आरोपी को भागता देख राहगीरों ने उसे दौड़ाकर पकड़ लिया और और उसे खूब धुना। 

यह भी पढ़ें: 'सैलून' से चलेंगी बौद्ध परिपथ स्पेशल गाड़ियां

सूचना मिलते ही मौके पर एएसपी ट्रांसगोमती हरेंद्र कुमार, सीओ अलीगंज डॉ. मीनाक्षी, थाना प्रभारी पीके झा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने महिला को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपित राहुल विक्षिप्त महिला को बहलाकर पुलिस बूथ में ले गया, जहां उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। महिला के चिल्लाने पर राहगीरों ने बूथ में उसे दबोच लिया। 

रात में ट्रकों से वसूली करती है पुलिस

लोगों के मुताबिक, वहां पर पुलिस बूथ तो बना है, लेकिन कोई पुलिस कर्मी वहां नहीं बैठता। यह लोग तो रात में भारी भार वाहनों और ट्रकों से वसूली में लगी रहती है। वसूली के चलते पुलिस बूथ पर कोई भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं रहता। घटना के वक्त भी पुलिस बूथ में कोई नहीं मौजूद था। 

जिसके कारण वहां से गुजर रही विक्षिप्त महिला को युवक ने पुलिस बूथ में खींच लिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला ने इसका विरोध किया और चीखने चिल्लाने लगी। इसके बाद महिला को दरिंदे के चंगुल से बचाया जा सका।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस