जौनपुर (जेएनएन)। राम जन्मभूमि न्यास समिति के संयोजक रह चुके पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद ने कहा कि 2019 तक अयोध्या में राम मंदिर निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। अगर उच्चतम न्यायालय से जल्द फैसला नहीं आया तो संसद में कानून बनाकर निर्माण का रास्ता साफ किया जाएगा। केंद्र में मोदी और प्रदेश में योगी शासन आने के बाद ये सही समय है इस कार्य का। शिया मुस्लिम वक्फ बोर्ड ने भी अपना समर्थन दे दिया है। जो लोग मंदिर निर्माण का राजनीतिक विरोध कर रहे थे वे सब गर्त में चले गए हैं। वे सोमवार को ओलंदगंज स्थित एक होटल में पत्रकारों से रूबरू थे।


उन्होंने कहा कि रामनाथ कोङ्क्षवद को इसीलिए राष्ट्रपति बनाया जा रहा है कि उन्हीं के हाथों मंदिर निर्माण की शिला रखी जाए। प्रदेश में योगी आदित्यनाथ ने जो विकास कार्य किए हैं उसके चलते उनकी अंतरराष्ट्रीय छवि बन गई है। इसी के चलते अंतरराष्ट्रीय इस्लामिक आतंकवाद की हिट लिस्ट में आ गए हैं। प्रदेश में आतंकी हमलों की साजिश चल रही है। विधानसभा को उड़ाने के लिए वहां विस्फोटक पहुंचाया गया।


अमरनाथ यात्रियों पर हमला और विधानसभा में विस्फोटक पहुंचाने की घटना एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं। चार महीने की योगी सरकार ने प्रदेश की बिगड़ी कानून व्यवस्था सुधारने में सराहनीय कार्य किए हैं। गाजियाबाद में भी हज हाउस की तरह कैलास मान सरोवर यात्रियों के लिए हाउस बनाया जाएगा। बजट में विकास की सभी संभावनाएं प्रदर्शित हो रही हैं।


सरकार बनते ही कर्जमाफी और सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने में 66 हजार करोड़ रुपये का खर्च आ रहा है जो सरकार ने फिजूल खर्ची रोक कर वहन कर लिया। मंत्रियों, अधिकारियों का विदेश दौरा रद किया गया। केंद्र की मदद नहीं ली। भ्रष्टाचार के आतंक को भी समाप्त किया। भूमाफियों को चिन्हित कर उन पर कार्रवाई हो रही है। वक्फ, सरकारी और बेनामी जमीन खाली कराई जाएगी।


बिजली आपूर्ति 24 घंटे की गई। प्राइमरी के शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराई जा रही है। किसानों की उपज बढ़ाने के लिए वैज्ञानिक उपाय किए जा रहे हैं। मृदा परीक्षण व उन्नतशील बीजों का प्रयोग कराया जा रहा है।  

Posted By: Ashish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस