अमेठी, [दिलीप सिंह]। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को घेरने के लिए जो जमीनी लड़ाई केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने चार साल पहले छेड़ी थी, वह आम चुनाव 2019 आते-आते और तेज होती जा रही है। अभी हाल ही में राहुल गांधी के अमेठी भ्रमण के दौरान जमीन को लेकर सड़क पर उतरे किसानों पर पुलिस की सख्ती के बाद मामला गर्माता दिख रहा है।

उद्योग की जमीन राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम

आम चुनाव में राहुल गांधी को घेरने के लिए अमेठी में किसानों से उद्योग के नाम पर ली गई जमीन, जो अब राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम हो गई है, को मुद्दा बनाकर घेराबंदी करने की योजना बनी है। चुनावी दंगल का अखाड़ा सजने से पहले ही किसानों से ली गई जमीन का मुद्दा राहुल गांधी की साख का सवाल बनता जा रहा है। गौरीगंज के कौहार गांव में सम्राट फैक्ट्री व जायस के बहादुरपुर में कॉलेज के नाम पर ली गई जमीन का मुद्दा समय के साथ और गर्म होता जा रहा है।

अपनी जमीन वापस मांग रहे किसान

पिछले तीन साल से जब भी राहुल गांधी अमेठी के दौरे पर होते हैं, किसानों की भीड़ अपनी जमीन वापस कराने की मांग के साथ सड़क पर होती है। खासकर, जब से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जमीन को लेकर राहुल गांधी को घेरना शुरू किया है, विरोध की शक्ल बदलती जा रही है। सम्राट फैक्ट्री व जायस में विद्यालय की जमीन के साथ ही फुरसतगंज में विमानन विश्र्वविद्यालय की जमीन को लेकर भी अब तकरार सार्वजनिक हो चुकी है।

भाजपा का आरोप है कि सम्राट फैक्ट्री की जमीन को राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट के सहारे राहुल गांधी ने अपने कब्जे में ले लिया है। इसी तरह जायस में कालेज के नाम पर ली गई जमीन मनुज कल्याण केंद्र खोलकर कब्जा किया गया है। इतना ही नहीं इंदिरा गांधी उड़ान अकादमी की भूमि पर राजीव गांधी विमानन विश्र्वविद्यालय बना दिया गया है।

राहुल और उनके परिवार ने अमेठी को छला

राहुल गांधी और उनके परिवार ने अमेठी को सिर्फ छला है। यहां के किसानों से उद्योग व रोजगार के नाम पर भूमि लेकर उन्हें भूमिहीन बना दिया गया है। विकास के नाम पर जो धोखा राहुल गांधी ने अमेठी के साथ किया है, अब उन्हें उसका जवाब देना होगा।

-दुर्गेश त्रिपाठी, जिलाध्यक्ष, भाजपा

स्मृति ईरानी भावनाओं के साथ कर रही हैं राजनीति

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी की भावनाओं के साथ राजनीति कर रही हैं। अमेठी में जो विकास दिख रहा है, वह सब राहुल गांधी व उनके परिवार के द्वारा ही किया गया है। मोदी सरकार में विकास अवरुद्ध हुआ है। स्मृति को इसका जवाब आने वाले दिनों में देना पड़ेगा।

-योगेंद्र मिश्र, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस-

Posted By: Sanjeev Tiwari