मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के सैफई में रैगिंग का मामला उठा ही था कि राजधानी स्थिति बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर केंद्रीय विश्वविद्यालय भी इसी मामले में सुर्खियों में आ गया। विवि की छात्रा ने अपने सीनियर पर रैगिंग का आरोप लगाया है। घटना के बाद छात्राओं में रोष हैं। पीडि़त छात्रा ने मामले की शिकायत प्रॉक्टर से की है।

जानकारी के मुताबिक, बीबीएयू में बीकॉम प्रथम वर्ष की छात्रा ने प्रॉक्टर प्रो रामचंद्र को लिखित शिकायत में कहा कि विवि गेट के पास मैनेजमेंट के एक सीनियर छात्र द्वारा उससे रैगिंग की गई। घटना के बाद से छात्रा में दशहत है। वहीं, अन्य छात्राओं में मामले को लेकर रोष है।  

पहले भी सामने आए हैं रैगिंग के मामले

विश्वविद्यालयों व अन्य शैक्षिक संस्थानों में रैगिंग के मामलों पर सख्ती से रोक लगाए जाने को लेकर एक ओर जहां सरकार जीरो टॉलरेंस मूड में है, वहीं शैक्षिक संस्थानों की शिथिलता सामने आने लगी है। बीबीएयू में छात्रा के साथ ही रैगिंग की घटना इसका प्रत्यक्ष प्रमाण हैं। 

छात्राओं की सुरक्षा पर भी उठ रहे सवाल

बीबीएयू में इन दिनों छात्राएं खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हैं। सोमवार को एक बाहरी युवक द्वारा विवि की छात्रों के साथ बदसलूकी और मारपीट की घटना सरेआम हुई थी। यह बात भी चर्चा में रही कि छात्रा के साथ मारपीट करने वाला आरोपित छात्र उस पर एसिड से अटैक करने की योजना के साथ विवि में घूम रहा था। मगर गनीमत रही कि विवि के छात्रों ने आरोपित छात्र के मंसूबे नाकाम कर दिए। इस घटना को लेकर मंगलवार को भी विवि माहौल गर्म रहा। मामला शांत भी न हुआ था कि विवि की ही एक अन्य छात्रा के साथ रैगिंग का मामला सामने आया। मामले पर प्रॉक्टर प्रो रामचंद्र का कहना है कि छात्रा की शिकायत को गंभीरता से लिया जा रहा है। छात्रा ने रैगिंग का आरोप लगाया है। मामले को एंटी रैगिंग कमेटी के समक्ष बुधवार को रखा जाएगा। गंभीरता से जांचकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप