लखनऊ, जेएनएन। कैंपवेल रोड चोर घाटी तिराहे पर दो दिन पहले टेंट व्यवसायी छोटू लोधी की गोली मारकर हत्‍या हुई थी। दो दिन बाद भी हत्‍यारों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई। पोस्‍टमार्टम के बाद परिवारीजन शव लेकर थाने पहुंचे और जमकर हंगामा किया। वहीं पुलिस अभी तक हत्यारों तक नहीं पहुंच पाई है, शक के आधार पर कई संदिग्धों से पूछताछ चल रही है। 

पोस्टमार्टम के बाद परिवारीजन और आस पड़ोस के लोग बड़ी संख्या में शव लेकर घर पहुंचे। उसके बाद बदमाशों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर चोर घाटी चौराहे पर शव रखकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। बवाल बढ़ता देख पुलिस अधिकारियों ने पीड़ित परिवार को समझाकर बदमाशों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया। इसके बाद परिवारीजन शव लेकर अंतिम संस्कार करने को चले गए। 

क्या था मामला

कन्हई खेड़ा निवासी छोटू लोधी (34) का चोर घाटी तिराहे पर टेंट का व्यवसाय था। वह प्रापर्टी डीलिंग का भी काम करता था। ठाकुरगंज इंस्पेक्टर दीना नाथ मिश्र के मुताबिक, शनिवार रात वह नौकर राजू पाल साथी दिनेश और दो अन्य लोगों के साथ तिराहे के पास खड़ा बात कर रहा था। इस बीच कन्हई खेड़ा रोड की ओर से आए बाइक सवार नकाबपोश बदमाशों ने पीछे से उसके सिर में गोली मार दी। इसके बाद बदमाश हवाई फायरिंग करते हुए भाग निकले। आस-पड़ोस के लोगों की मदद से घायलावस्था में उसे ट्रामा सेंटर ले जाया गया। जहां, डॉक्टरों ने छोटू को मृत घोषित कर दिया।

कुछ दूर आगे जाकर लौटे और गोली मार कर हुए फरार

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बाइक सवार हत्यारे दुबले-पतले थे। दोनों कन्हई खेड़ा की ओर से आये और कुछ दूर आगे तक गए। उसके बाद लौटे और फिर पीछे से आकर गोली मार दी। आस पास खड़े लोगों बदमाशों के पीछे दौड़े पर जब वह फायरिंग करने लगे तो लोग रुक गए।

संदिग्धों से हो रही पूछताछ

सीओ चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी ने बताया कि छोटू की पत्नी रेनू की तहरीर पर दो अज्ञात बाइक सवार नकाबपोश बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। शहर के अलावा पड़ोसी जनपदों में बदमाशों की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। हालांकि क्षेत्र में तनाव की स्थिति को देखते हुए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। 

श्रवण साहू की हत्या में आरोपित के साथ जा चुका है जेल : एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि बहुचर्चित श्रवण साहू हत्याकांड के आरोपित अकील के साथ छोटू 2013 में जेल गया था। दोनों के खिलाफ ठाकुरगंज में मारपीट जानलेवा हमले समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज हुई थी।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप