लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द सोमवार को उत्तर प्रदेश विधानमंडल के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत विधानमंडल का विशेष सदन सोमवार को आहूत किया जा रहा है।

विधान सभा मंडप में सुबह 11 बजे शुरू होने वाले इस कार्यक्रम को राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के अलावा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, विधान परिषद के सभापति कुंवर मानवेंद्र सिंह, विधान सभा अध्यक्ष सतीश महाना, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव भी संबोधित करेंगे।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द न सिर्फ उत्तर प्रदेश के निवासी हैं बल्कि देश में विधायिका के शीर्ष अधिष्ठान संसद के अभिन्न अंग भी हैं। उत्तर प्रदेश विधानमंडल का भी गौरवशाली अतीत रहा है। देश की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में मनाए जा रहे आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अतीत की उपलब्धियों का पुनरावलोकन करने के साथ ही अगले 25 वर्षों के लिए कार्ययोजना तैयार करने का आह्वान किया है। अपने संबोधन में राष्ट्रपति दोनों सदनों के सदस्यों का मार्गदर्शन करेंगे।

राष्ट्रपति रविवार देर शाम लखनऊ पहुंचे। रात्रि विश्राम राजभवन में करेंगे। सोमवार को राष्ट्रपति की फ्लीट लगभग 10.30 बजे राजभवन से विधानभवन के लिए निकलेगी। विधानभवन के पोर्टिको में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, विधान परिषद सभापति मानवेंद्र सिंह, विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, ब्रजेश पाठक के साथ ही सभी पार्टियों के विधानमंडल दल के नेताओं द्वारा राष्ट्रपति का स्वागत किया जाएगा।

इसके बाद ठीक 11 बजे राष्ट्रपति विधानसभा मंडप में पहुंचेंगे। यहां वह संयुक्त सत्र में विधानमंडल सदस्यों को मार्गदर्शन देंगे। राज्यपाल, विधान परिषद सभापति, विधानसभा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री का भी संबोधन होगा। एक घंटे विधानभवन में रहने के बाद राष्ट्रपति की राजभवन में वापसी होगी। राष्ट्रपति के सम्मान में दोपहर का भोजन राजभवन में ही रखा गया है। सोमवार देर शाम राष्ट्रपति की लखनऊ से वापसी है।

दोनों सदनों के समक्ष दूसरी बार होगा राष्ट्रपति का संबोधन : यह दूसरा मौका होगा जब राष्ट्रपति विधानमंडल के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। इससे पहले तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उत्तर प्रदेश विधानमंडल के 125 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित उत्तरशती रजत जयंती समारोह में आठ जनवरी 2013 को दोनों सदनों को संबोधित किया था। इस मौके पर उन्होंने उप्र विधानमंडल पर विशेष डाक टिकट भी जारी किया था।

खुला रहा विधान सभा सचिवालय : राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के आगमन की तैयारियों के लिए रविवार को अवकाश के दिन भी विधान सभा सचिवालय खुला रहा। विधान सभा अध्यक्ष सतीश महाना ने खुद विधान भवन और विधान सभा मंडप में तैयारियों का जायजा लिया। राष्ट्रपति की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने भी विधान भवन का निरीक्षण किया।

Edited By: Umesh Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट