लखनऊ(जेएनएन)। विघ्नहर्ता और शुभत्व के पर्याय भगवान गणेश की वंदना के बिना हर काम अधूरा है। एकदंत से विनती अनंत है। 13 सितंबर से शुरू हो रहे गणेश चतुर्थी का उल्लास शहर में छाया है। बाजारों में गणेश प्रतिमाएं सजी हैं। वहीं, जगह-जगह मनौतियों के राजा के विराजने के लिए पंडाल तैयार हो रहे हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारियां भी तेज हैं।

झूलेलाल पार्क में भव्य आयोजन 

श्री गणेश प्राकट्य कमेटी की ओर से 13वां श्री गणेश महोत्सव का आयोजन 13 से 23 सितंबर तक झूलेलाल वाटिका निकट हनुमान सेतु के पास किया जाएगा। कोलकाता के कारीगरों द्वारा विशाल पंडाल तैयार हो रहा है। कमेटी के संरक्षक भारत भूषण गुप्ता ने बताया कि इस बार गणेश पूजा पंडाल 'रामेश्वरम मन्दिर' की थीम पर तैयार हो रहा है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्षों की भांति इस बार भी गणेश प्रतिमा का भू विसर्जन होगा। जिससे लोगों में संदेश जाए कि नदियों को प्रदूषित नहीं करना है। करीब 16 हजार वर्ग फीट में होने वाले उत्सव में बप्पा का 80 फीट ऊंचा वाटरप्रूफ पंडाल तैयार हो रहा है। खाने की कई दुकानें सज रही हैं। इस बार लोगों के लिए 'हॉन्टेड हाउस' बनवाया जा रहा है। इसमें डायनासोर जैसे अन्य जानवर के मॉडल रहेंगे। जिसे कारीगर लाईट और साउंड के माध्यम से सजीव एहसास कराएंगे। संरक्षक देशराज अग्रवाल ने बताया इस बार कमेटी की ओर से एक प्रसाद का स्टाल लगेगा जिस पर भगवान गजानन को चढ़ाने के लिए मोदक कम पैसे में भक्तों को प्राप्त हो सकेगा। 50 सीसी टीवी कैमरे और लगभग 80 सुरक्षाकर्मी रहेंगे। 23 सितंबर को शोभा यात्रा झूलेलाल वाटिका से शुरू होकर विश्वविद्यालय मार्ग, आईटी चौराहा, रामकृष्ण मठ, शंकरनगर, नजीरगंज, डालीगंज होते हुए झूलेलाल वाटिका पर समाप्त होगी।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच विराजेंगे गणपति

षष्ठी श्री गणेश उत्सव कमेटी की ओर से गुलाब वाटिका अपार्टमेंट, अलीगंज में 13 सितंबर से शुरू हो रहे पांच दिवसीय गणेश उत्सव खास होगा। गजानन के नाम चिठ्ठी लिखकर जहां भक्त मनौतियां मांगेंगे, वहीं सांस्कृतिक कार्यक्रमों की छटा भक्तों का मनोरंजन करेगी।

यहां दर्शन देंगे श्रीश्री पीली कोठी के राजा

श्रीश्री सिद्धि विनायक सेवा समिति की ओर से सीतापुर रोड स्थित श्री गणोश महोत्सव पंडाल, पीली कोठी, मौसमबाग में श्री श्री पीली कोठी के राजा सात दिनों तक भक्तों को दर्शन देंगे। इस दौरान एक ओर जहां सिंदूर अभिषेक नृत्य संध्या के अंतर्गत ओडीसी नृत्य तो दूसरी ओर डांडिया, राधाकृष्ण होली, माता की चौकी व सुंदर झांकियों के भी दर्शन होंगे।

बाल मेले में लुभाएंगे गणपति

श्री गणोश उत्सव मंडल की ओर से अमीनाबाद श्रीराम रोड स्थित शिव मंदिर में अमीनाबाद के राजा विराजमान होंगे। 13 सितंबर से शुरू हो रहे सात दिवसीय इस उत्सव में रविवार की शाम कुछ खास होगी। इस दिन बाल मेला आयोजित होगा। वहीं, इस दौरान राधा अष्टमी उत्सव, भंडारा, सुंदरकांड पाठ व सांस्कृतिक संध्या आदि कार्यक्रम होंगे।

Posted By: Anurag Gupta