लखनऊ, [पुलक त्रिपाठी]। प्राविधिक शिक्षा परिषद के अधीन संचालित एक और दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स के संचालन पर पॉलीटेक्निक संस्थाओं के हाथ खोल दिए गए हैं।

ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजूकेशन (एआइसीटीई) ने ऐसे कोर्स को अपने दायरे से मुक्त कर दिया है। इन कोर्स के संचालन के लिए पॉलीटेक्निक संस्थाओं को एआइसीटीई की स्वीकृति की जरूरत नहीं होगी।

हालांकि, बोर्ड स्तर पर संस्थाओं द्वारा इन कोर्स के संचालन की मान्यता होनी जरूरी है। इसके दायरे में प्रदेश के सैकड़ों कॉलेज आएंगे।एक व दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स को एआइसीटीई मुक्त कर रहा है। अब बोर्ड स्तर पर मान्यता प्रदान कर इन कोर्सेज का संचालन किया जाएगा।

एआइसीटीई के दायरे से हटने वाले कोर्स

पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स इन एडवरटाइजिंग एंड पब्लिक रिलेशन, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स इन बायोटेक्नोलॉजी, पीजी डिप्लोमा इन टूरिज्म एंड ट्रेवल, पीजी डिप्लोमा इन टेक्सटाइल डिजाइन, पीजी डिप्लोमा इन कस्टमर सर्विस मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन मार्केटिंग एंड सेल्स मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन ब्यूटी एंड हेल्थ केयर, पीजी डिप्लोमा इन फैशन टेक्नोलॉजी, पीजी डिप्लोमा इन रिटेल मैनेजमेंट, पीजी डिप्लोमा इन अकाउंटेंसी, वेब डिजाइन, कंप्यूटर हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग, कंप्यूटर एप्लीकेशन, डिप्लोमा इन होस साइंस, लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस, डिप्लोमा इन माडर्न ऑफिस मैनेजमेंट एंड सेक्रेटियल प्रैक्टिस शामिल हैं।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस