लखनऊ, जेएनएन। कोरोना संक्रमण काल की वजह से स्थगित रही पॉलीटेक्निक की सेमेस्टर परीक्षाएं 25 सितंबर से शुरू होंगी। अंतिम वर्ष के छात्रों की इस परीक्षा में राजधानी समेत प्रदेश की 150 सरकारी और 19 सहायता प्राप्त संस्थानों के करीब 70 हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे। प्राविधिक शिक्षा परिषद के नव नियुक्त सचिव आरके सिंह ने बताया कि नकलविहीन और शारीरिक दूरी के साथ परीक्षा कराने की तैयारी की जा रही है। एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि की मदद से पहली बार संस्थानों को ऑनलाइन प्रश्नपत्र भेजे जाएंगे जिसका प्रिंट निकालकर संस्थाएं छात्रों को वितरित करेंगी। सुरक्षा के चलते आधे घंटे पूर्व ही प्रश्नपत्रों को प्रिंट किया जा सकेगा। 18 सितंबर को इसका मॉक टेस्ट भी होगा। परीक्षार्थियों की सुरक्षा और जांच की पूरी व्यवस्था की जाएगी। 

शारीरिक दूरी बनाने की चुनौती

संसाधनों की कमी और परीक्षार्थियों की संख्या अधिक होने से कोरोना संक्रमण से बचाव के उपाय करने में संस्थानों काे पसीना आ रहा है। राजधानी की कई संस्थानो में क्षमता से कई गुना परीक्षार्थी होंगे। बुधवार को सचिव के सामने इस बारे में चर्चा भी हुई, लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है। एक संस्थान में तो 300 के स्थान पर 800 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। जगह के साथ ही फर्नीचर की कमी भी संस्थानों की नींद उड़ाए हुए है। राजकीय और सहायता प्राप्त संस्थानों में निजी पॉलीटेक्निक का सेंटर आता है। अपने छात्रों के साथ उनके छात्रों को भी परीक्षा दिलाने की चुनौती होगी। दो और तीन पालियों में परीक्षा होगी। हर पाली के बाद कक्षाओं को सैनिटाइज करने की चुनौती भी कम नहीं है। राजधानी समेत प्रदेश की 19 सहायता प्राप्त संस्थानों में वेतन के लिए बजट नहीं है। ऐसे में सैनिटाइजेशन कैसे होगा, इसका जवाब भी कोई अधिकारी देने को तैयार नहीं है।

जीरो फीस पर नहीं होगा प्रवेश

शुल्क प्रतिपूर्ति को लेकर समाज कल्याण की नई गाइड लाइन और बजट में कटौती का असर जीरो फीस पर प्रवेश लेने वाले अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्रों पर पड़ेगा। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद की ओर से 28 सितंबर को पॉलीटेक्निक का परिणाम घोषित होगा। 30 से काउंसिलिंग शुरू होगी। परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि विशेष सचिव सुनील कुमार चौधरी और निदेशक प्राविधिक शिक्षा मनोज कुमार के निर्देश 28 सितंबर को परिणाम ऑनलाइन वेबसाइट जेईईसीयूपी.एनआइसी.इन पर अपलोड कर दिया जाएगा। 30 सितंबर से ऑनलाइन काउंसिलिंग शुरू हो जाएगी। समाज कल्याण विभाग की गाइड लाइन के अनुरूप ही फीस ली जाएगी। इसे लेकर उच्च अधिकारियों के साथ मंथन हो रहा है। जीरो फीस वाले को भी ट्यूशन फीस तो देनी होती है। अधिक जानकारी के लिए विद्यार्थी टोलफ्री नंबर-18001806589 के अलावा 0522-2630678 और 0522-2630667 पर संपर्क कर सकते हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस