रायबरेली, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश के रायबरेली में फूल झाडू के बीज को नकली जीरा का रूप देकर बड़े पैमाने पर मिलावट का खेल उजागर हुआ। सोमवार को जब पुलिस गोदामों से माल लेकर कोतवाली लौटी तो यह मिलावटी माल 400 क्विंटल के पार पहुंच गया। दिनभर पुलिस इसी में जूझती रही। इधर, कस्बा सहित आसपास के गांवों के नौ लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसमें एक भाजपा नेता का बेटा भी शामिल है। 

छापेमारी में हुआ खुलासा 

दरअसल, शनिवार देर रात कस्बा के गांधीनगर, रूद्र नगर, पूरे चुन्नू, अतरेहटा, पूरे मूढू, हलोर समेत एक दर्जन से अधिक जगहों पर पुलिस द्वारा छापेमारी की गई थी। जहां पर पुलिस ने भारी मात्रा में फूल झाड़ू के बीज से बना नकली जीरा बरामद किया था। रविवार को पुलिस ने 300 क्विंटल से अधिक नकली जीरा बरामद होने का अनुमान लगाया था। सोमवार को जब गोदामों से नकली जीरे की खेप निकाली गई तो मात्रा बता पाना पुलिस के लिए भी मुश्किल हो गया। फिलहाल कोतवाली में नकली जीरा करीब 1000 बोरा पहुंच गया है, जिसकी तौल होनी बाकी है। 

इन पर दर्ज हुआ मुकदमा 

सोमवार को पुलिस ने कस्बा निवासी भाजपा नेता रामशंकर वर्मा के पुत्र अमित प्रकाश वर्मा उर्फ रज्जन वर्मा, व्यापारी प्रशांत साहू, दिनेश, सत्येंद्र केसरवानी, फूलचंद्र साहू, राजेंद्र प्रसाद उर्फ बाबू, पंकज ठठेर, अतरेहटा निवासी कमलेश मौर्य उर्फ लल्ला, पुरानी बाजार चंदापुर निवासी पवन गुप्ता को धोखाधड़ी और मिलावटखोरी के मुकदमे में नामजद किया है। इनमें से सत्येंद्र केसरवानी समेत अन्य छह लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 

यूपी के पश्चिमी जिले, दिल्ली तक जुड़े तार 

क्षेत्राधिकारी विनीत कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि महाराजगंज क्षेत्र में ये अवैध कारोबार बीते कई सालों से फल फूल रहा था। इसके तार दिल्ली एनसीआर और उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिलों तक फैले हुए हैं। हिरासत में लिए लोगों से पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले से जुड़े अन्य लोगों तक भी पुलिस पहुंचेगी। फिलहाल नौ लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस