लखनऊ, जेएनएन। हाईकोर्ट के प्रतिबंध के बावजूद राजधानी में चोरी छिपे हुक्का परोसा जा रहा है। लखनऊ पुलिस लगातार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। बावजूद इसके कुछ अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे हैं। अभी हाल में ही हजरतगंज पुलिस ने हुक्का बार से 16 लोगों गिरफ्तार किया था। अब आशियाना में बंगला बाजार में हुक्का बार में हुक्का परोसा जा रहा था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने दूसरे तल पर स्थित हुक्का बार में छापे मारी की। जिसमें कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया गया। 

बता दें कि राजधानी पुलिस ने हजरतगंज स्थित एम्परर हुक्का बार में दबिश देकर 16 लोगों को महामारी एक्ट में गिरफ्तार किया था। इसके बाद भी चोरी छिपे हुक्का पार्टियों का आयोजन किया जा रहा है। राजधानी के आशियाना में बंगला बाजार में हुक्का बार में पार्टी चल रही थी। इसकी सूचना पुलिस को लगी। दबिश के दौरान हुक्का पीने वाले और पिलाने वाले कुल सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों में सेक्टर एच निवासी शारिक हुसैन, आलमबाग निवासी रजवीर सिंह, बंगला बाजार निवासी सुल्तान, कृष्णानगर निवासी तुषार, अमित सिंह, आशियाना निवासी नदीम सिद्दीकी और अमीनाबाद निवासी मानिक संजय शामिल हैं। आरोपितों के पास से सात हुक्का, बड़ी मात्रा में फ्लेवर व अन्य सामान बरामद किए गए हैं।  

एम्परर में पकड़े गए थे 16 लोग: दो दिन पहले ही राजधानी के हजरतगंज इलाके में एम्परर हुक्का बार में छापेमारी हुई थी। इंस्पेक्टर हजरतगंज श्याम बाबू शुक्ला के मुताबिक मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने छापा मारा था। छापेमारी की सूचना लगते ही कैफे के मालिक मोहम्मद फैजी सिद्दीकी मौके से भाग निकला जिसकी तलाश की जा रही है। इस दौरान कैफे में हुक्का पी रहे डालीगंज निवासी सलमान कैसरबाग निवासी फैजान, सादाब, ठाकुरगंज निवासी मोहम्मद सलमान, मोसिन कमाल, मोहम्मद वकर, चांद अली, एजाज रसूल, उस्मान, वरुण अवस्थी, मोहम्मद वासिद, मोहम्मद इनाम, अमीनाबाद निवासी स्वेत कुरैशी, हसनगंज निवासी मोहम्मद सलमान, तालकटोरा निवासी सूरज और हसनगंज निवासी सलमान को कुल 16 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने आरोपितों के पास से चार वाहन भी बरामद किए हैं। यही नहीं करीब 19 मोबाइल फोन भी बरामद किए गए हैं। बता दें कि हाईकोर्ट ने यूपी में बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण को देखते हुए धारा 144 लागू की है। वहीं लॉकडाउन भी लगा हुए है ऐसे में एक साथ पर इकठ्ठा होकर हुक्का पार्टी करना कोरोना संक्रमण को बढ़ावा देने के बराबर है।