लखनऊ, जेएनएन। पीजीआइ थाना पर 13 महीने का बच्चा बुधवार को दिनभर मंदिर के सामने बिलखता रहा। मां की संदिग्ध हालात में मौत के आरोप में पिता पहले ही जेल में है। बुधवार को दादा और दादी को भी पुलिस पकड़कर ले आई। बच्चे को महिला पुलिस ने संभाला और उसके नाना को बुलाकर सौंप दिया। 

बीती गुरुवार को बच्चे की मां अनामिका सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में घर के अंदर मौत हो गई थी। मृतका के पिता गंगा राम ने ससुराल पक्ष पर हत्या का आरोप लगाया था। मामले में बच्चे के पिता राजन को घटना के दिन ही गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया था। इस बीच एक माह का बच्चा मोंटू अपने बाबा के पास रह रहा था। बुधवार को बच्चे के बाबा लक्ष्मी प्रसाद-दादी तारा देवी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर थाने लेकर आई उस समय बच्चा दादी के गोद में था। थाने में तमाम अनजान चेहरों को देख बच्चा रोने लगा वहां मौजूद महिला सिपाही ने बच्चे को गोद में लेकर उसे पुचकार कर खाने को दिया। बच्चा उस समय कुछ देर के लिए चुप तो गया और महिला सिपाही के गोद से उतरकर वह धीरे-धीरे परिसर में बने मंदिर तक पहुंच गया। वहीं बाद में बच्चे को नाना व उसके मामा को सौंप दिया गया।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप