लखनऊ, जेएनएन। अपराध और अपराधी के खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ के बेहद सख्ती का एक और परिणाम शनिवार को सामने आ गया। उत्तर प्रदेश एसटीएफ को शनिवार को बड़ी सफलता मिली है। एसटीएफ ने भाड़े के हत्यारे खुंखार विजय सिंह उर्फ बिज्जी उर्फ बिजेन्द्र सिंह को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। बदमाश विजय सिंह सुपारी लेकर हत्या करता था।

उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने अम्बेडकरनगर के जिस विजय सिंह उर्फ बिज्जी उर्फ बिजेन्द्र सिंह को मुठभेड़ में ढेर किया, उस पर 50 हजार का इनाम घोषित था। वह रुपया लेकर हत्या तथा अन्य अपराध में लम्बे समय से संलिप्त था। खूंखार अपराधी विजय सिंह उर्फ बिज्जी उर्फ बिजेन्द्र सिंह पुत्र स्व. अशोक कुमार सिंह, उम्र 48 निवासी खरगपुर थाना कोतवाली अकबरपुर, जिला अम्बेडकर नगर का निवासी था। वह शनिवार को भी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना में निकला था। गोंडा के परसपुर थाना क्षेत्र के डेहरास अंतर्गत उसको उत्तर प्रदेश एसटीएफ की टीम ने घेरा। इसके बाद उसने भागने का प्रयास किया। उसने पुलिस की टीम पर फायरिंग भी की। एसटीएफ की टीम ने उसका पीछा किया और परसपुर-नवाबगंज मार्ग पर वह मुठभेड़ में घायल भी हो गया। गंभीर रूप से घायल बिज्जी को एसटीएफ की टीम अस्पताल लेकर पहुंची। वहां पर चिकित्सकों ने उसको मृत घोषित कर दिया।

कुख्यात विजय सिंह उर्फ बिज्जी पर लगभग दो दर्जन अभियोग पंजीकृत थे। उसके खिलाफ हत्या, लूट, हत्या के प्रयास जैसे गंभीर प्रकृति के अभियोग पंजीकृत थे। वह अम्बेडकरनगर के थाना महरूवा में क्राइम नम्बर 06/2021 धारा 302/120 बी में लम्बे समय से वांछित था। आज भी वह गोंडा में एक सनसनीखेज हत्या की घटना को अंजाम देने के लिए परसपुर थाना नवाबगंज क्षेत्र में जा रहा था।

इसी दौरान उत्तर प्रदेश एसटीएफ की टीम ने सटीक मुखबिरी होने पर उसको घेर लिया। परसपुर थाने के डेहरास के चंदई पांडेयपुरवा गांव के पास बाइक सवार बदमाश व एसटीएफ के बीच मुठभेड़ हो गई। इसमें गोली लगने से घायल बदमाश की सीएचसी परसपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई। गोंडा के पुलिस अधीक्षक डा. लोकेश शुक्ल के मुताबिक मृतक विजय सिंह अंबेडकरनगर जिले का रहने वाला है। उसे तीन गोलियां लगी है।  

Edited By: Dharmendra Pandey