बहराइच, जेएनएन। रामगांव थाना क्षेत्र रसूलीचक के ग्रामीणों ने बुधवार को एसपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। आरोप है कि थाना क्षेत्र के गंभीरवा चौकी प्रभारी ने पुलिसकर्मियों संग घर में घुसकर तोडफ़ोड़ की। विरोध करने पर खंभे में बांध कर उनकी पिटाई की। घर में रखी 18 हजार रुपये नकदी पुलिसकर्मी उठा ले गए। एसपी ने मामले की जांच कराकर कार्रवाई का भरोसा दिया। तब जाकर ग्रामीण नरम पड़े। इसके बाद वापस घर लौट गए।

रसूलीचक निवासी लक्ष्मी देवी पत्नी नंद किशोर व नागेश पुत्र अयोध्या समेत दर्जनों ग्रामीणों ने एसपी कार्यालय पर प्रदर्शन के दौरान बताया कि दुर्गा पूजा के दौरान गांव के कुछ दबंगो से विवाद हो गया था। मामले में पुलिस ने उमेश पुत्र मुंशी उर्फ रामेश्वर के खिलाफ कार्रवाई की थी। आरोप है कि इस मामले में चौकी प्रभारी गंभीरवा सुलह का दबाव बना रहे थे। आरोप है कि मंगलवार रात चौकी प्रभारी आधा दर्जन पुलिसकर्मियों के साथ पीडि़तों के घर पहुंचे और घर में घुसकर तोडफ़ोड़ की। घर में रखी 18 हजार की नकदी व अन्य कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी पुलिस उठा ले गई। आरोप है कि गांव के नागेश को जबरन पुलिस चौकी लाया गया और खंभे से बांधकर उसकी पिटाई की गई। ग्रामीणों ने आरोपित पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है। 

सीओ महसी को सौंपी गई जांच

एएसपी ग्रामीण रवींद्र सिंह ने बताया कि मामले की जानकारी है। जांच सीओ महसी को सौंपी गई है। दो दिनों के भीतर जांच रिपोर्ट दी जाएगी। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप