लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर सवाल उठने लगे हैं। खासकर उस समय जब पुलिस के इकबाल की बुलंदी को हर खासोआम रौंदने की कोशिश करने लगा है। देवरिया और बिजनौर में ऐसे ही मामलों में कई दारोगा और सिपाहियों को पीट दिया गया। बिजनौर में तो दारोगा और सिपाहियों को इस तरह बंधक बनाया कि अतिरिक्त फोर्स को आकर छुड़ाना पड़ा। अब आला अधिकारी मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं।

देवरिया में शिकायत न सुनने पर दारोगा को पीटा

देवरिया में शराब के निर्धारित मूल्य से अधिक पैसा मांगने पर दुकानदार के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराने गए जवान की बात टालमटोल करने पर विवाद हो गया। नाराज सेना के जवान ने दारोगा की पिटाई कर दी। इस दौरान दारोगा की वर्दी भी फट गई। आरोपित जवान पुलिस की हिरासत में है। एएसपी दक्षिणी मामले की जांच कर रहे हैं। बिहार बार्डर पर शराब के एक प्रभावशाली दुकानदार मामले को मैनेज करने में लगे हैं। बनकटा जगदीश गांव निवासी सेना का जवान शुक्रवार शाम साढ़े सात बजे रामपुर के प्रतापपुर चौराहा पर बीयर लेने पहुंचा। आरोप है कि लाइसेंसी दुकानदार द्वारा बीयर के तय रेट से अधिक मूल्य की वसूली की गई। इस बात पर सेना का जवान बिफर गया। दोनों के बीच कहासुनी हुई। नाराज सेना का जवान प्रतापपुर चौकी प्रभारी ओमप्रकाश ङ्क्षसह के पास शिकायत लेकर पहुंचा और दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। दारोगा ने सेना के जवान को आबकारी विभाग में शिकायत दर्ज कराने की सलाह दी। इस पर बात बिगड़ गई और दोनों के बीच कहासुनी के दौरान मारपीट शुरू हो गई।

आरोप है या मारपीट जांच होगी

आरोप है कि सेना के जवान ने दारोगा ओमप्रकाश सिंह की पिटाई कर दी, जिसमें उनकी वर्दी फट गई। पुलिस ने आरोपित जवान को हिरासत में ले लिया। जवान शराब के दुकानदार पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए अड़ा है, जबकि महकमा मामले को मैनेज करने में जुटा है। मौके पर सीओ भाटपाररानी, एसओ बनकटा पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों को घटना की सूचना दी। अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी सुरेंद्र बहादुर ने कहा कि जवान नशे में था। वह ओवररेटिंग की शिकायत लेकर पहुंचा था। दारोगा ने आबकारी विभाग में शिकायत दर्ज कराने की सलाह दी। इस पर बात बिगड़ गई। मामले की जांच की जा रही है। पुलिस अधीक्षक एन कोलांची ने कहा कि विवाद की सूचना मिली है। एएसपी मामले की जांच कर रहे हैं। 

बिजनौर में दारोगा व सिपाहियों को पीटा

बिजनौर रायपुर सादात क्षेत्र के गांव टांडामाईदास में शुक्रवार को मारपीट की सूचना पर पहुंची पुलिस पर ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। एक पक्ष ने दारोगा और सिपाहियों को घर में बंधक बनाकर बुरी तरह पीटा। टांडा माईदास के सुजापुर गढ़ी मौजा निवासी मौसम का बुधवार को अपने पड़ोसी राजेश से विवाद हो गया।  गुरुवार देर शाम राजेश ने परिजनों के साथ मौसम के घर पर हमला कर दिया। इसके बाद दोनों पक्षों में पथराव हुआ। मौसम के पिता सुनील ने तहरीर दी, लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। दूसरे पक्ष के रामलाल, रमेश, छत्रपाल ने फिर मौसम के साथ मारपीट कर दी। सूचना पर दारोगा ब्रजराज सिंह, सिपाही रोहित त्यागी व शोवरण सिंह रामलाल के घर जानकारी करने पहुंचे। जैसे ही तीनों पुलिसकर्मी अंदर गए तो रामलाल की पत्नी ने घर की कुंडी लगा दी। आरोपितों ने सिपाहियों और दारोगा को जमकर पीटा। सिपाही शोवरण सिंह घायल हो गया। चौकी इंचार्ज ब्रजराज सिंह ने 14 नामजद व 30 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। 

Posted By: Nawal Mishra