लखनऊ, जेएनएन। हजरतगंज चौराहे पर रेस्टोरेंट के सामने बुधवार देर रात अराजक तत्वों ने फायरिंग कर दी। गोली चलने की आवाज से अफरातफरी मच गई। खास बात ये है कि चंद कदम की दूरी पर चौकी में पुलिस भी मौजूद थी। बावजूद इसके हमलावर गोली चलाने के बाद भाग निकले। वहीं, दुकान के बाहर कार में मौजूद ग्राहकों में भगदड़ मच गई। हांलाक‍ि पुल‍िस ने तत्‍काल कार्रवाई करते हुए चंद घंटों में ही आरोप‍ित को दबोच ल‍िया। 

कार में बैठी युवती पर चलाई थीं गोलियां

हजरतगंज चौराहे पर बुधवार देर रात ताबड़तोड़ फायरिंग कर सनसनी मचाने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र के मुताबिक रोवर्स रेस्टोरेंट के मालिक प्रफुल्ल पांडेय के साथ उनकी गाड़ी में एक युवती बैठी हुई थी, जिसपर आरोपित ने फायरिंग की थी।

पुलिस का कहना है कि मुख्य आरोपित अमीनाबाद निवासी आदिल की दो दिन पहले एक युवती से बहस हुई थी। दरअसल, आदिल अपनी महिला मित्र से वीडियो चैट पर बात कर रहा था। इस दौरान महिला के साथ वह युवती भी मौजूद थी। महिला ने युवती से आदिल की वीडियो कॉल पर बात कराने की कोशिश की थी, जिसपर युवती ने मना कर दिया था। इस बात को लेकर आदिल और युवती में बहस हो गई थी। नाराज होकर आदिल ने युवती को देख लेने की धमकी दी थी।

बुधवार देर रात में रोवर्स के बाहर बड़ी संख्या में गाड़ियां खड़ी थीं। प्रफुल्ल के साथ उसकी गाड़ी में युवती बैठी हुई थी। इसी बीच आदिल वहां पहुंच गया। आरोपित ने युवती को कार से बाहर निकलने को बोला तो उसने मना कर दिया। इसके बाद आदिल ने युवती की तरफ का गाड़ी का शीशा असलहे के बट से मारकर तोड़ दिया। यह देख प्रफुल्ल ने विरोध किया तो आरोपित ने उसे बीच में न आने को बोला। देखते ही देखते विवाद बढ़ गया।

रेस्टोरेंट मालिक ने ताना असलहा

मामला बढ़ता देख रेस्टोरेंट मालिक प्रफुल्ल ने आदिल पर लाइसेंसी असलहा तान दिया। इस बीच वहां मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई। वहीं आदिल ने वहां से चुपचाप जाने का नाटक किया और फिर अचानक प्रफुल्ल की गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। गोली जब चली तो चंद कदमों की दूरी पर पुलिसकर्मी भी मौजूद थे। हालांकि कोई भी आगे नहीं आया। इस बीच आरोपित असलहा लहराते हुए भाग निकला।

फर्जी जेल भेजने का आरोप

बुधवार देर रात में एसएसपी के निर्देश पर पुलिस टीम गठित कर आरोपित की तलाश में रवाना की गई। इस बीच पुलिस ने आदिल के बहनोई सुजानपुरा आलमबाग निवासी रेहान खान को दबोच लिया। पुलिस का दावा है कि रेहान की घटना में संलिप्तता है। वहीं रेहान के परिवारजन ने पुलिस पर फर्जी जेल भेजने का आरोप लगाया है। घरवालों का कहना है कि रेहान की प}ी फातिमा अस्पताल में भर्ती हैं। घटना के समय रेहान प}ी के पास था, जिसे पुलिस ने फर्जी फंसाकर जेल भेज दिया। वहीं सीओ हजरतगंज का कहना है कि वादी ने पुलिस को बयान देकर रेहान की भूमिका होने की बात कही थी, जिसे गिरफ्तार किया गया है।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप