लखनऊ, जेएनएन। इच्छामृत्यु की गुहार लेकर रायबरेली से गैंगरेप पीड़िता और उसका परिवार मुख्यमंत्री आवास पहुंचा। आरोप है कि लगभग साल भर पहले पीड़िता के साथ गैंगरेप हुआ था। रिपोर्ट लिखने के बावजूद भी उसे न्याय नहीं मिला, जिसकी वजह से परिवार निराश है और सरकार से इच्छामृत्यु की मांग की है। 

रायबरेली से पैदल पहुंचा परिवार 

पीड़िता और उसका परिवार न्याय के लिए रायबरेली से पैदल ही राजधानी लखनऊ पहुंचा। पीड़िता के पति का आरोप 2018 में उसकी पत्नी के साथ गांव के ही दबंगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। दबंगों ने बंदूक की नोंक पर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था। परिवार रायबरेली से पैदल चलकर पांच कालिदास मार्ग पहुंचा था। परिवार ने आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। वहीं पीड़िता का कहना है कि अगर योगी सरकार न्याय नहीं दे सकती है तो इच्छा मृत्यु का अधिकार दे दे।

लगभग एक साल पहले महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई थी, जिसके बाद आज तक पुलिस ने कोई गिरफ्तारी नहीं की। परिवार डीएम से लेकर एसपी से न्याय के लिए भटकता रहा, लेकिन साल भर में भी पुलिस ने किसी की भी गिरफ्तार नहीं की। वहीं हजरतगंज पुलिस की सूचना पर रायबरेली से पुलिस महिला थाना पहुंची। परिवार को अपने साथ लेकर रायबरेली पुलिस रवाना हो गई। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस