रायबरेली, जेएनएन। असलहा लेकर फोटो खिंचवाना महिला को भारी पड़ सकता है। यह तस्वीर इंटरनेट मीडिया में वायरल होने पर पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। खबर है कि जो असलहा तस्वीर में है, वह भी अवैध है। मामला नसीराबाद के बभनपुर गांव का है। जो तस्वीर इंटरनेट मीडिया में वायरल हो रही है, वह पूर्व प्रधान की पत्नी की बताई जाती है। फोटो में महिला असलहा तानकर छत की तरफ निशाना साधते दिख रही है। एक तो असलहे का प्रदर्शन, वह भी अवैध, यह कृत्य महिला पर भारी पड़ सकता है। मालूम हो कि शासन ने असलहों के इस तरह प्रदर्शन पर रोक लगा रखी है। फिर भी लोग कानून की धज्जियां उड़ाने से बाज नहीं आते। अब तक तमाम ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन इनमें यह प्रकरण सबसे अलग रहा। कारण, इसमें एक महिला असलहे के साथ अपने रुतबे का प्रदर्शन कर रही है। थानाध्यक्ष ने परैया चौकी इंचार्ज को मामले की जांच सौंपी है। देखना यह है कि कार्रवाई होती भी है या नहीं।

पड़ताल में सामने आएगी असलहे की हकीकत

महिला के हाथ में जो असलहा है, उसे भी लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। कोई इसे अवैध बता रहा है तो कोई नीलगाय भगाने वाली बंदूक। पूर्व प्रधान ने भी अपना पक्ष रखते हुए असलहे को फर्जी बताया है। उनका कहना है कि एक साल पहले यह फोटो कानपुर में ली गई थी। चुनावी रंजिश में अब इसे वायरल किया गया। फिलहाल हकीकत जो हो वह जांच में सामने आ जाएगी।

इंटरनेट मीडिया में जो फोटो वायरल हो रही है, वह बभनपुर के पूर्व प्रधान श्याम बहादुर सिंह की पत्नी की है। इसकी जांच परैया के चौकी प्रभारी को सौंपी गई है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। - राजकुमार पांडेय, थानाध्यक्ष, नसीराबाद

Edited By: Anurag Gupta