लखनऊ, जेएनएन। केजीएमयू में बिजली केबल में फॉल्ट होने से पांच घंटे तक आपूर्ति ठप रही। वहीं बिजली न आने से बैकअप सिस्टम भी दगा दे गया, कंप्यूटर ठप हो गए। ऐसे में पैथोलॉजी जांच कराने आए मरीजों के सैंपल खराब हो गए।

केजीएमयू के एनॉटमी विभाग के पास 240 एमएम केबल में खराबी होने से पैथोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, फिजियोलॉजी, एसपीएम, एनॉटमी में बिजली गुल हो गईं। ऐसे में विभागों में अंधेरा छा गया। लिहाजा, जनरेटर से विद्युत आपूर्ति शुरू की गई। वहीं दो बजे के करीब बड़ी पैथोलॉजी में जनरेटर दगा दे गया। एक घंटे में कंप्यूटर बैकअप भी खत्म हो गया। ऐसे में कंप्यूटर बंद होने से क्लीनिक कैमिस्ट्री लैब समेत अन्य लैब में ब्लड कलेक्शन ठप हो गया।

नहीं हो सका बार कोड जनरेट : बड़ी पैथोलॉजी में कंप्यूटर बंद होने से सैंपल का बार कोड जनरेट नहीं हो सका। ऐसे में उनके रक्त का नमूना नहीं लिया गया और सैंपल खराब हो गया। ऐसे ही एलडीए कॉलोनी के आदर्श की हार्मोनल जांचें होनी थी। मगर सैंपल खराब होने की वजह से जांच नहीं हो सकी। ऐसे ही लगभग करीब 40 मरीजों के खून के नमूने खराब हो गए।

मरीजों ने किया हंगामा : घंटों इंतजार के बाद मरीज लौटा दिए गए। ऐसे में दूर-दराज से आए मरीजों ने हंगामा भी किया। उन्हें स्टाफ ने समझाया कि बिजली न होने की वजह से यह समस्या हुई है।

केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी ने बताया कि केजीएमयू की पैथोलॉजी में बिजली गुल होने पर कंप्यूटर ठप हो गए और कार्य प्रभावित रहा। दोपहर में केबल में फॉल्ट हो गया था। शाम पांच बजे के करीब बिजली आपूर्ति हो सकी। इसके चलते मरीजों को दिक्कत हुई।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस