लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। Oxygen Supply in UP: उत्तर प्रदेश में आक्सीजन की रिकार्ड आपूर्ति की जा रही है। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश में आक्सीजन की सप्लाई और बढ़ाने की कसरत भी तेज हो गई है। पितृशोक के बावजूद अपर मुख्य सचिव गृह, अवनीश कुमार अवस्थी ने लोगों की जीवन रक्षा से जुड़ी आक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था को बाधित नहीं होने दिया। उनके पिता आदित्य कुमार अवस्थी का सोमवार को लखनऊ के पीजीआइ में निधन हो गया था। बैकुंठ धाम में पिता के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार करने के बाद वह सोमवार शाम को ही गृह विभाग स्थित विशेष कंट्रोल रूम पहुंचे और प्रदेश में आक्सीजन की आपूर्ति का मोर्चा संभाला। वह मंगलवार को भी इस काम में पूरी तत्परता से लगे रहे और इसका परिणाम रहा कि बीते 24 घंटों में प्रदेश में 1014.53 मीट्रिक टन आक्सीजन की आपूर्ति की गई। इंटरनेट मीडिया पर अवनीश अवस्थी की अपने कर्तव्य के प्रति इस निष्ठा की प्रशंसा हो रही है। 

सूबे में बीते 24 घंटों में सेल्फ प्रोडक्शन के तहत एयर सेपरेटर्स यूनिट्स के माध्यम से 96.97 मीट्रिक टन आक्सीजन की आपूर्ति भी की गई है। एक दिन में होम आइसोलेशन के 4105 मरीजों को भी 27.9 मीट्रिक टन आक्सीजन की आपूर्ति सिलेंडरों के जरिये की गई है। अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि कुल आपूर्ति से 619.59 मीट्रिक टन आक्सीजन खाद्य सुरक्षा व औषधि प्रशासन विभाग की ओर से रीफिलर्स को उपलब्ध कराई गई। वहीं शासन के प्रयासों से 302.62 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई प्रदेश के मेडिकल कालेजों व चिकित्सा संस्थानों को तथा 92.32 मीट्रिक टन आक्सीजन की आपूर्ति आक्सीजन सप्लायर्स के जरिए सीधे निजी चिकित्सालयों को की गई है। 

अवस्थी ने बताया कि बीते 24 घंटे में कानपुर में 113.13 मीट्रिक टन, वाराणसी में 65.71 मीट्रिक टन, प्रयागराज में 49.58 मीट्रिक टन, मेरठ में 252.56 मीट्रिक टन, मुरादाबाद में 56.20 मीट्रिक टन, आगरा में 77.03 मीट्रिक टन, गोरखपुर में 51.37 मीट्रिक टन तथा लखनऊ में 136.20 मीट्रिक टन आक्सीजन की सप्लाई की गई है। गृह विभाग में बने विशेष कंट्रोल रूम के जरिए आक्सीजन आपूर्ति की लगातार आनलाइन मानीटङ्क्षरग की जा रही है। अवस्थी का कहना है कि हर दशा में आक्सीजन सप्लाई को निर्बाध रखने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। 

Edited By: Divyansh Rastogi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट