लखनऊ, जागरण संवाददाता। प्लाट दिलाने, रुपये दोगुना करने और बाइक टैक्सी के नाम पर 10 हजार से अधिक लोगों से करीब एक अरब की ठगी के मामले में आरोपित हेलो राइड कंपनी के मालिक अभय कुशवाहा के खिलाफ पुलिस अब गैंगेस्टर की तैयारी कर रही है। अभय कुशवाहा और उसके गिरोह के सदस्यों के खिलाफ पुलिस गैंगेस्टर की कार्रवाई करेगी।

डीसीपी सेंट्रल डा. ख्याति गर्ग ने बताया कि कंपनी बनाकर पूरे ठगी के गिरोह का संचालन अभय कुशवाहा करता था। वह करीब दो साल से फरार चल रहा था। रविवार को उसे राजाजीपुरम से गिरफ्तार किया गया था। उस पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था। अभय को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। डीसीपी के मुताबिक अब अभय और उसके अन्य साथियों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई की जाएगी।

अभय उसकी कंपनी और कंपनी के अन्य सदस्यों में राजेश पांडेय, रागिनी गुप्ता, निखिल कुशवाहा, नीलम वर्मा के खिलाफ हजरतगंज और विभूतिखंड थाने में 36 मुकदमें दर्ज हैं। अभय गिरोह बनाकर लोगों के साथ ठगी करता था। वर्ष 2019 में उसे विभूतिखंड से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। कुछ माह बाद उसकी जमानत हो गई। उसके बाद हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ। मुकदमा दर्ज होने के बाद से वह फरार चल रहा था।

लखनऊ के साथ ही कई प्रदेशों में फैला था नेटवर्क : अभय और उसके साथियों ने यूपी में लखनऊ, फतेहपुर और नोएडा में आफिस खोल रखा था। इसके अलावा इनके आफिस बिहार, पंजाब में भी थे। दूसरे राज्यों तक गिरोह का नेटवर्क था। यह लोग वहां भी निवेशकों से रुपये लगवाते थे।

Edited By: Anurag Gupta