बहराइच, जेएनएन। कोतवाली नानपारा क्षेत्र के मंझवा भुलौरा निवासी वृद्ध पतिराम ने बेटे व पुत्रवधु समेत चार लोगों का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया है। इस घटना से हिंदू संगठनों में आक्रोश व्याप्त है। पीड़ित पिता ने गांव के आधा दर्जन लोगों पर जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाकर नामजद तहरीर पुलिस को दी है। घटना के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। सभी आरोपित फरार बताए गए है।

कोतवाली क्षेत्र के मंझवा भुलौरा निवासी पतिराम ने कोतवाली पुलिस को दी गई तहरीर में उल्लेख किया है कि उसके बेटे, बहू व पोते का गांव के कुछ लोगों ने धर्म परिवर्तन करा दिया है। आरोप है कि पहले इसकी भनक नहीं लगी, लेकिन कुछ दिनों से पुत्र सुभाष, पोता दीपक और बहू मीरा नमाज पढ़ने जैसी मुस्लिम धर्म के क्रियाकलाप करते दिखाई पड़े। कई बार बेटे को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह मारपीट पर उतारू हो गया। यही नहीं वह परिवारजन के साथ ग्राम कमचियारा में बनी ऊंची मजार पर जाने लगा।

धर्म परिवर्तन की सूचना गांव में फैल गई। जानकारी हिंदू संगठनों को मिली तो वे भी मौके पर पहुंचे। घटना से क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन गई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला धर्म जागरण प्रमुख रोहित चौरसिया ने धर्म परिवर्तन कराने वालों पर कार्रवाई की मांग की है। गांव में मौजूद मौजूद दीपक की दादी सावित्री, चाची सीमा व मुना ने बताया कि वे सभी हिंदू धर्म में आस्था रखते है, लेकिन दीपक ने अपने परिवार के साथ क्यों धर्म परिवर्तित कर लिया? यह बात समझ से परे है। कोतवाल हर्षवर्धन सिंह ने बताया कि तहरीर मिली है। मामले की जांच की जा रही है। गांव में सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस बल भी तैनात किया गया है। 

Edited By: Anurag Gupta