लखनऊ, राज्य ब्यूरो। Medical Education In UP यूपी के प्राइवेट मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस, एमडी व एमएस आदि कोर्सेज की फीस इस शैक्षिक सत्र वर्ष 2022-23 में फीस नहीं बढ़ाई जाएगी। विशेष सचिव, चिकित्सा शिक्षा दुर्गा शक्ति नागपाल की ओर से स्नातक (यूजी) व स्नातकोत्तर (पीजी) पाठ्यक्रम की फीस न बढ़ाए जाने के आदेश जारी कर दिए गए।

निर्देश दिए गए हैं कि पिछले शैक्षिक सत्र वर्ष 2021-21 में जो फीस निर्धारित की गई थी, वही फीस इस बार भी ली जा सकेगी। फिलहाल इस फैसले से विद्यार्थियों को बड़ी राहत मिल गई है। प्राइवेट मेडिकल कालेजों में बीते साल एमबीबीएस कोर्स की फीस अलग-अलग कालेजों में अधिकतम 14.59 लाख रुपये से लेकर न्यूनतम 11.65 लााख रुपये प्रति वर्ष निर्धारित थी।

वहीं अलग-अलग अल्पसंख्यक मेडिकल कालेजों में कालेजों में एमबीबीएस कोर्स की फीस प्रति वर्ष अधिकतम 20.60 लाख रुपये से न्यूनतम 18.70 लाख रुपये थी। इसके साथ सिर्फ पहले वर्ष प्राइवेट और अल्पसंख्यक मेडिकल कालेजों में तीन लाख रुपये सिक्योरिटी मनी भी जमा कराई गई थी।

इसी तरह वर्ष 2021-22 में एमडी, एमएस व डिप्लोमा आदि पीजी कोर्सेज की अलग-अलग प्राइवेट मेडिकल कालेजों में प्रति वर्ष 26.38 लाख रुपये से लेकर 15.72 लाख रुपये थी। वहीं अल्पसंख्यक कालेजों में पीजी कोर्सेज की 41 लाख रुपये प्रति वर्ष फीस थी। वहीं सरकारी मेडिकल कालेजों में 30 हजार रुपये प्रति वर्ष फीस निर्धारित थी। अब यही फीस इस शैक्षिक सत्र वर्ष 2022-23 में भी यही फीस ली जाएगी।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट