मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था को पटरी पर लाने के प्रयास में लगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर हैं। बीते 24 घंटे में 12 हत्या के बाद समाजवादी पार्टी के साथ ही बहुजन समाज पार्टी तथा कांग्रेस ने प्रदेश सरकार के कामकाज पर सवाल उठाया है। 

कानून-व्यवस्था के साथ अपराध मुकत समाज को लेकर किए गए योगी आदित्यनाथ सरकार के सारे दावे फेल होते नजर आ रहे हैं। अपराधमुक्त उत्तर प्रदेश के लिए पुलिस को खुली छूट दी गई। ऑपरेशऩ क्लीन चलाया जा रहा है। इसके बाद भी  पिछले 24 घंटे में 12 हत्या से प्रदेश के कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाता है।

सहारनपुर में पत्रकार समेत उसके भाई की गोली मारकार हत्या कर दी गई। प्रयागराज में 12 घंटे में छह हत्याएं हुईं। बांदा में जमीनी विवाद में आदमी की हत्या हुई। बुलंदशहर में ऑनर किलिंग के शक में लड़की की हत्या कर दी गई। लखनऊ से सटे जिले सुल्तानपुर के लम्भुआ में भी हत्याएं हुईं। सिलसिलेवार तरीके से हो रहे अपराध इस बात की गवाही दे रहे हैं कि अपराधियों के मन में कानून का खौफ अब बाकी नहीं रह गया है. बेखौफ अपराधी खुलेआम वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

मायावती ने बोला हमला

बसपा मुखिया मायावती ने कहा कि प्रदेश में हुई इन घटनाओं के बाद तो योगी आदित्यनाथ कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हैं। प्रदेश में तो अपराध चरम पर हैं और हत्याओं की तो बाढ़ सी आ गयी। यूपी की भाजपा सरकार में कानून का नहीं बल्कि यहां पर तो गुण्डों, बदमाशों, माफियाओं आदि का जंगलराज चल रहा है, जिस कारण अब पूरे प्रदेश में हर प्रकार के अपराध चरम पर हैं और हत्याओं की तो बाढ़ सी आ गयी लगती है। हर कोई असुरक्षित महसूस कर रहा है, जो अति-दु:खद व अति-दुर्भाग्यपूर्ण है।

प्रियंका गांधी ने भी ली चुटकी

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि अपराधों को रोकने की जिम्मेदारी वाले लोग लीपापोती में जुटे हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस घटना पर प्रदेश सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया। आप इस व्यवस्था को क्या कहेंगे जहां हर दिन गोली चलाकर सरेआम हत्याओं का दौर जारी है। अपराधों को रोकने की जिम्मेदारी वाले लोग लीपापोती में जुटे हैं। यूपी तो अपराधयुक्त है ही।

अखिलेश ने कहा हो गया हत्या प्रदेश

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश अब उत्तम प्रदेश की जगह यूपी को हत्या प्रदेश कहा जा रहा है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना पर गहरा दुख जताते हुए दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने कहा कि उनकी पूर्ववर्ती सरकार मृतकों के परिजनों को 20-20 लाख रुपए की सहायता देती थी, भाजपा सरकार को भी इतनी मदद तो करनी ही चाहिए। अखिलेश ने ट्वीट कर कहा कि पहले उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश बनने की राह पर था अब भाजपा राज ने 'हत्या प्रदेश' बना दिया है।

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने जब प्रदेश का काम काज संभाला था पूर्व अखिलेश सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर ही सवाल उठाया था। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप